September 25, 2021 2:04 pm
featured खेल देश

पूर्व क्रिकेटर युवराज ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ, अस्पतालों में लगवाएं 1000 बेड

yuvraj पूर्व क्रिकेटर युवराज ने मदद के लिए बढ़ाया हाथ, अस्पतालों में लगवाएं 1000 बेड

देश इन दिनों कोरोना महामारी से जूझ रहा है। स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमराई हुई हैं। मरीजों को अस्पताल में भर्ती करने के लिए बेड नहीं है। सही से इलाज नहीं मिला पा रहा है। इलाज के अभाव की वजह से हजारों लोगों की जान चली गई है। ऐसी मुश्किल की घड़ी में टीम इंडिया के पूर्व क्रिकेटर युवराज सिंह ने लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। युवराज सिंह की फाउंडेशन यूवीकैन ने भारत में कोविड महामारी से लड़ने के लिए देश के कई अस्पतालों में 1000 बेड लगवाने का एलान किया है।

यूवीकैन ने एलान करते हुए कहा वनडिजिटल इंटरटेनमेंट के साथ साझेदारी में यह पहल शुरू की जायेगी। जिसका मुख्य उद्देश्य है कि मरीजों के लिए ऑक्सीजन की सुविधा से लैस बिस्तरों, वेंटिलेटर एवं बाईपीएपी मशीनों लगवाई जाएंगी जिससे कोविड मरीजों की अच्छे से देखभाल हो सके। इसके अलावा आवश्यक चिकित्सीय उपकरणों को उपलब्ध करवाए जाएंगे। साथ ही संस्था सरकारी हॉस्पिटल्स को बेहतर बनाने पर भी काम करेगी।

लोगों ने बेड और ऑक्सीजन के लिए संघर्ष किया- युवराज

युवराज ने कहा कि कोरोना की दूसरी लहर तबाही की तरह साबित हुई है। उन्होंने एक बयान में कहा, “हम सबने अपने प्रियजनों को खोया है और अनगिनत लोगों को ऑक्सीजन, आईसीयू बेड और दूसरे जरूरी देखभाल वाली सुविधाओं के लिए संघर्ष करते देखा है। मैं भी इससे काफी प्रभावित हुआ और मुझे लगा स्वास्थ्य सुविधाओं को बेहतर करने के लिए हमें केंद्र और राज्य सरकारों की मदद के लिए आगे आना चाहिए”।

बिस्तर लगाने का काम हुआ शुरू

यूवीकैन ने दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, राजस्थान, तेलंगाना, कर्नाटक और मध्य प्रदेश के अस्पतालों में बिस्तर लगाना शुरू कर दिया है।

आपको बता दें कि इससे पहले भी युवराज सिंह कोरोना वायरस की पहली लहर के दौरान भी लोगों की मदद के लिए आगे आए थे। युवराज के अलावा, सहवाग, गंभीर, पठान बंधु और हनुमा विहारी जैसे खिलाड़ियों ने भी मुश्किल वक्त में लोगों की हर संभव तरीके से मदद करने की कोशिश की है।

Related posts

कश्मीर पर बैठक: बातचीत को तैयार लेकिन देश की सुरक्षा से समझौता नहीं

bharatkhabar

तो क्या रणनीतिकार नहीं कांग्रेस के नेता होंगे प्रशांत किशोर!

kumari ashu

अपने ही जाल में फंसी कांग्रेस, आरोप के बाद प्ले स्टोर से हटाई ऐप

lucknow bureua