धर्मांतरण और आतंकवाद पर बोले सीएम योगी, कहा- बस कोई जाति-धर्म नहीं देखता

लखनऊ: कोरोना काल में कई परिवार उजड़ गए, बच्चों ने अपने मां-बाप खो दिए। परिवार पूरा टूट गया, अब ऐसे अनाथ बच्चों को मदद देने का जिम्मा यूपी सरकार ने उठाया है। मुख्यमंत्री बाल सेवा योजना के माध्यम से ऐसे सभी अनाथ बच्चों का जीवन-यापन बेहतर तरीके से हो, यह योगी सरकार की जिम्मेदारी होगी।

4000 से अधिक बच्चों को होगा फायदा

यूपी की सरकार की योजना यह कहती है कि सभी बच्चों की शिक्षा और सुरक्षा सरकारी खर्च पर की जाएगी। कार्यक्रम गुरुवार को लखनऊ स्थित लोक भवन में होगा। इस दौरान यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और राज्यपाल आनंदीबेन पटेल भी मौजूद रहेंगीं। कार्यक्रम में मंत्री स्वाति सिंह सहित सरकार के अन्य लोग भी मौजूद होंगे, कार्यक्रम गुरुवार को दोपहर 12:00 बजे शुरू होगा।

4000 रुपये प्रति माह की सहायता

यूपी सरकार की योजना बच्चों के लिए है जिन्होंने कोरोना काल के दौरान अपने माता पिता को खो दिया। इन सभी लोगों को ₹4000 प्रति माह में यूपी सरकार की तरफ से दिए जाएंगे। इतना ही नहीं, 11 वर्ष से 18 वर्ष आयु सीमा के बीच वाले सभी बच्चों को निशुल्क शिक्षा अटल आवासीय विद्यालय और कस्तूरबा गांधी विद्यालय में दिलाई जाएगी।

बालिकाओं को विवाह योग्य हो जाने पर एक लाख एक हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी दी जाएगी। कक्षा 9 से ऊपर पढ़ रहे बच्चे, ऐसे लोग जो 18 वर्ष से कम है और व्यवसायिक कोर्स कर रहे हैं, उन्हें टेबलेट और लैपटॉप जैसे आधुनिक उपकरण भी सरकार की तरफ से दिए जाएंगे।

राज कुंद्रा पॉर्न केस में नया खुलासा, आरोपी उमेश कामत के बनाए वीडियो चढ़े मुंबई क्राइम ब्रांच के हत्थे

Previous article

योगी सरकार की ऐतिहासिक घोषणा, कौशांबी पर्यटन स्थल मिली सौगात

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured