featured यूपी

गंगा एक्‍सप्रेसवे के लिए यूपीडा को हडको से मिला 2900 करोड़ रुपए का ऋण

गंगा एक्‍सप्रेसवे के लिए यूपीडा को हडको से मिला 2900 करोड़ का ऋण

लखनऊ: मेरठ से प्रयागराज तक प्रस्‍तावित योगी सरकार की महत्‍वपूर्ण एक्सेस कंट्रोल ग्रीन फील्ड परियोजना गंगा एक्‍सप्रेसवे का काम बहुत तेजी से चल रहा है। 594 किमी. लंबी गंगा एक्‍सप्रेसवे परियोजना की भूमि क्रय के लिए 2900 करोड़ रुपए का लोन स्‍वीकृत हो गया है।

यह भी पढ़ें: बजट 2022: योगी सरकार प्रदेश के इन लोगों को देगी बीमा सुरक्षा कवच    

इस बारे में यूपी सरकार के अतिरिक्‍त मुख्‍य सचिव अवनीश कुमार अवस्‍थी ने जानकारी देते हुए बताया कि गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना की भूमि क्रय की कुल लागत 9,255 करोड़ रुपए है, जिसमें से यूपीडा (उत्तर प्रदेश औद्योगिक विकास प्राधिकरण) को हडको (आवास और शहरी विकास निगम) से 2900 करोड़ रुपए का ऋण मिला है। यह ग्रीन फील्ड परियोजना यूपी के 12 जिलों की 30 तहसीलों से होकर निकलेगी। इस परियोजना के लिए 522 गांव की कुल 7,438 हेक्टेयर भूमि क्रय की जाएगी।

एक्‍सप्रेसवे बनने से सड़क हादसों में आएगी कमी  

उन्‍होंने बताया कि इस एक्‍सप्रेसवे परियोजना से क्षेत्र के किसानों को अपनी फसल उत्पादन बाजार तक तेजी से ले जाने में मदद मिलेगी। बीमार व्यक्तियों को कम समय में अस्पताल पहुंचाने में सुविधा होगी। यही नहीं एक्सप्रेसवे पर यात्रा करने से लोगों के समय व ईंधन की बचत तो होगी ही सड़क हादसों में भी कमी आएगी।

मंगलवार को इस ग्रीन फील्‍ड एक्‍सप्रेसवे परियोजना की भूमि क्रय के लिए यूपीडा के मुख्य कार्यपालक अधिकारी अवनीश कुमार अवस्थी और हडको के संयुक्त महाप्रबंधक (वित्त) रत्न प्रकाश ने 2900 करोड़ रुपए के लोन के ऋण अनुबंध पर हस्ताक्षर किए। अवनीश अवस्थी ने खुशी जाहिर हुए यह भरोसा दिलाया कि, यूपीडा द्वारा गंगा एक्सप्रेसवे के निर्माण के शुरुआती दौर की प्रक्रियाओं को जल्‍दी पूरा करके एक्सप्रेसवे से संबंधित भूमि अधिग्रहण/क्रय का कार्य शुरू करने की दिशा में और तेजी से कार्य किया जा रहा है। इस मौके पर यूपीडा के वित्त नियंत्रक विश्वजीत राय भी मौजूद रहे।

12 जिलों से होकर गुजरेगा गंगा एक्‍सप्रेसवे

आपको बता दें कि गंगा एक्सप्रेसवे परियोजना की कुल अनुमानित लागत 36,410 करोड़ है। इस एक्‍सप्रेसवे का निर्माण कार्य गुणवत्ता को ध्यान में रखकर 12 पैकेजों में किया जाएगा। गंगा एक्सप्रेसवे मेरठ से शुरू होकर हापुड़, बुलन्दशहर, अमरोहा, संभल, बदायूं, शाहजहांपुर, हरदोई, उन्नाव, रायबरेली, प्रतापगढ़ और प्रयागराज पर समाप्त होगा।

Related posts

छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की तबियत में आठ दिन के भी कोई सुधार नहीं

Mamta Gautam

जम्मू कश्मीर: कुलगाम में सुरक्षाबलों में मुठभेड़, दो आतंकी ढेर

Rahul

पाकिस्तान में ही छिपा है अंडरवर्ल्ड डॉन दाऊद इब्राहिम : रवीश कुमार

bharatkhabar