Breaking News यूपी

झूठ बोलने का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं योगी आदित्यनाथ: अखिलेश यादव

akhilesh yadav 18 झूठ बोलने का रिकॉर्ड तोड़ चुके हैं योगी आदित्यनाथ: अखिलेश यादव

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के मुखिया और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर कई आरोप लगाए हैं। साथ भारतीय जनता पार्टी पर भी निशाना साधा हैं। अखिलेश ने तो यहां तक कह दिया है कि सीएम योगी आदित्यनाथ झूठ बोलने के सारे रिकॉर्ड तोड़ते जा रहे हैं।

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा की योगी सरकार के कार्यकाल में मात्र कुछ ही दिन बचा हुआ है। ऐसे में जनता को लोकलुभावने वादे देकर उन्हें बहलाने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि झूठ बोलने की लत सीएम योगी को इस कदर लग गई है कि वो लोकतंत्र के पवित्र मंदिर सदन में भी इससे बच नहीं रहे हैं।

छात्रों को टेबेलेट व परीक्षा भत्ता का वादा चुनावी स्टंट

पूर्व सीएम ने कहा कि छात्रों को एक करोड़ टेबलेट और परीक्षा भत्ता के साथ कई लोकलुभावने वादे कर रहे हैं। जबकि, सच्चाई यह है कि उन्होंने 2017 में चुनाव के दौरान जितने वादे किए थे, उनमें से एक भी पूरे नहीं हुए। जब बीजेपी ने अपने चुनावी संकल्प पत्र में किए वादों को पूरा नहीं किया तो अब जब सरकार जा रही है तो वो क्या करेंगे। उन्होंने सीएम योगी से सवाल करते हुए पूछा कि मुफ्त लैपटॉप और डाटा देने के वादे का अब तक क्या हुआ? विवेकानन्द इंटरनेट सेवा का क्या हुआ? किसानों की आय क्या दोगुनी कर दी? उन्होंने कहा कि आज युवा बेरोजगार बनकर भटक रहा है।

जनता को भ्रमित करने में जुटी बीजेपी

सपा मुखिया ने कहा कि भाजपा लोगों को भटकाने के लिए कुछ भी कर सकती है। उन्होंने कहा कि लोगों को भ्रमित करने के लिए भाजपा तरह तरह के हथकंडे अपना रही है। भाजपा अनुपूरक बजट लेकर आई है, जिससे कि लोगों को भटकाया जा सके, लेकिन सच्चाई यह है कि अपने पिछले बजट का 20 फीसदी भी खर्च नहीं कर सकती है। विकास के नाम पर सिर्फ नारे दिए गए हैं। इंडो नेपाल सीमा पर 640 किलोमीटर लंबी सड़क पीडब्ल्यूडी को बनानी है, लेकिन पिछले दस साल में मात्र 132 किलोमीटर का ही निर्माण हो सकता है। स्थिति तो यह थी कि 2019 के दिसंबर तक 27 फीसदी जमीन अधिग्रहण का भी काम नहीं हो पाया था। इतना ही नहीं जो सड़क बनकर तैयार हुई है, उसकी गुणवत्ता भी ठीक नहीं है।

चिकित्सा-शिक्षा का क्षेत्र हुआ बदहाल

अखिलेश ने कहा कि कुंभ मेला प्रबंधन की डींग हांकने वाली भाजपा सरकार ने करोड़ों का अपव्यय किया है। इसका तो खुलासा हो चुका है। स्कूल खोलने के आदेश दिए जा चुके हैं, लेकिन अभी प्रदेश के 26 जिलों में डेस्क-बेंच की खरीद की निविदाएं तक नहीं खोलीं गईं हैं। उन्होंने कहा कि बीजेपी सरकार में शिक्षा और चिकित्सा के क्षेत्र में किस प्रकार की बदहाली है, यह अब किसी से छिपा नहीं है।

बिजली विभाग की बदहाली से लोग बेहाल

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि विधानमंडल के सामने पेश हुई सीएजी की रिपोर्ट में प्रदेश के ऊर्जा क्षेत्र के 11 सार्वजनिक उपक्रमों की बदहाली उजागर हुई है। इनसे करीब 162,180.07 करोड़ तक की हानि अब तक हो चुकी है, आगे भी और होगी। उन्होंने कहा कि फर्रूखाबाद में खम्भा है न तार लेकिन बिजली का बिल लगातार आ रहा है। उन्होंने कहा कि सपा सरकार में मिलने वाली बिजली की सप्लाई को बीजेपी सरकार सुनिश्चित नहीं रख पाई। अखिलेश ने कहा कि हकीकत यह है कि बीजेपी अपने पूरे कार्यकाल में एक यूनिट बिजली तक का भी उत्पादन नहीं कर पाई।

रसोई गैस के दाम बढ़ने से उज्ज्वला योजना बनी मजाक

उन्होंने कहा कि सरकार ने उज्ज्वला योजना के नाम पर मजाक किया है। रसोई गैस इतनी महंगी हो गई है कि उज्ज्वला योजना चूल्हा भी ठंडा पड़ गया है। डबल इंजन वाली सरकार सब्सिडी तक निगल गई है। रसोई गैस के सिलेंडर में 25 रूपए की बढ़त हुई है। रसोई का पूरा बजट बिगड़ चुका है। अब ऐसे में खुद को नंबर वन कहने वाली बीजेपी बताए कि आम आदमी अपना घर कैसे चलाए। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने आते ही गरीब महिलाओं के लिए पेंशन योजना पर रोक लगा दी। विविध क्षेत्रों में जो सम्मान सपा सरकार ने देना शुरू किया था, वह भी भाजपा सरकार को रास नहीं आया।

जनता देगी जवाब

अखिलेश यादव ने कहा कि विकास की विरोधी भाजपा जनविरोधी है। अब इसका कार्यकाल भी मात्र कुछ दिनों का ही बचा हुआ है। संकल्प पत्र की वादाखिलाफी का जवाब जनता 2022 में देने को तैयार बैठी है। इन साढ़े चार सालों में जनता बीजेपी के चाल, चरित्र और चेहरे को पहचान गई है। अब बीजेपी के बहकावे में जनता कभी नहीं आएगी।

Related posts

पर्रिकर: पीएम मोदी के खिलाफ बोलने से केजरीवाल की लंबी हुई जुबान

shipra saxena

कोंकणी ग्रंथों का डिजिटलीकरण और अनुवाद करेगा गोवा विश्वविद्यालय

Trinath Mishra

UP: जून में एक करोड़ वैक्‍सीनेशन का लक्ष्‍य, जानिए अबतक कितनों को लगा टीका

Shailendra Singh