Breaking News featured भारत खबर विशेष यूपी

यादवों की सरकारी नौकरी पर संकट, योगी सरकार ने किया बड़ा बदलाव

akhilesh and yogi यादवों की सरकारी नौकरी पर संकट, योगी सरकार ने किया बड़ा बदलाव

लखनऊ: योगी सरकार ने अखिलेश यादव के एक और फैसले को पलटते हुए फायरमैन और जेल वार्डेन की भर्तियों में फिर से आवेदन मांगे हैं।

akhilesh and yogi यादवों की सरकारी नौकरी पर संकट, योगी सरकार ने किया बड़ा बदलाव

बता दें, पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने बीते बर्ष 2016 में फायरमैन के 1575 और जेल वार्डेन के 2311 पदों के लिए भर्ती को खोला था। इस भर्ती प्रक्रिया में अखिलेश यादव ने सीधे तौर पर इंटरव्यू के माध्यम से पदों को भरने की कवायद की थी।

इस पूरी भर्ती प्रक्रिया को सीएम योगी ने भ्रष्टाचार को बढावा देने वाला बताते हुए अमान्य घोषित कर दिया है। अब नए सिरे से आवेदन मांगे जाएंगे, योगी सरकार ने लिखित परिक्षा और इंटरव्यू के जरिए रिक्त पदों को भरने का फैसला लिया है।

सूत्रों की माने तो अखिलेश सरकार में सीधे इंटरव्यू के जरिए एक जाति विशेष के अभ्यार्थियों की तैनाती की कोशिश थी। योगी सरकार ने पूर्व में रही अखिलेश सरकार की इस व्यवस्था को रद्द कर दिया है। खैर अभी यह तय नहीं है कि पूर्व में आवेदन कर चुके आवेदकों को कोई छूट मिलेगी या नहीं। बताते चलें कि पिछली व्यवस्था के तहत फायरमैन के 1575 पदों के लिए 21 दिसंबर से 4 फरवरी 2017 तक 110424 लोगों ने आवेदन किया था, जबकि जेल वार्डेन के 2311 पदों में 1759 पद पुरुषों तथा 552 पद महिलाओं के लिए आरक्षित थे। इस नौकरी के लिए 229848 पुरुषों और 70541 महिलाओं ने आवेदन किया था।

अखिलेश सरकार की पूर्व में रही भर्ती प्रक्रिया को पलटते हुए योगी सरकार ने नई नियमावली प्रस्तावित की है। नई नियमावली के मुताबिक पहले लिखित परिक्षा होगी, उसमें उत्तीर्ण पाए जाने पर साक्षात्कार लिया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक, पहले की सरकार में हुई भर्तियों में एक विशेष जाति के लोगों को तवज्जो मिलती रही है। बहुत सी पड़तालों में भी ये बात निकलकर सामने आई है कि पहले हुई सरकारी भर्तियों में 70% से ज्यादा सफल होने वाले उम्मीदवार यादव जाति के थे। अब सरकार बदली है तो रुख बदला है, भर्ती प्रक्रिया का तौर-तरीका बदला है।

Related posts

विवाद के बीच चीन की सीमा पर पीएम मोदी के पहुंचने का क्या है मतलब?

Mamta Gautam

दैनिक राशिफल: कैसा रहेगा आज का दिन, जानिए किस्मत बदलने वाले उपाय

Aditya Mishra

सऊदी अरब और यूएई आए साथ, व्यापार समेत तमाम चीजों के लिए बनाया आर्थिक संगठन

Breaking News