aliens मंगल ग्रह पर एलियंस ले रहे डकार! नासा के क्यूरियोसिटी रोवर के पास सबूत...

सालों से वैज्ञानिक दूसरे ग्रह पर जीवन की तलाश कर रहे हैं। कहा जाता है कि सभी ग्रहों में मार्स पर जिंदगी के आसार सबसे ज्यादा देखने को मिले हैं। इन सबके बीच मंगल ग्रह पर हाल ही में वैज्ञानिकों को एलियन की डकार सुनाई दी है। जिसके सबूत नासा के क्यूरियोसिटी रोवर ने जुटा लिए हैं।

अबतक 6 बार डकार की आवाज रिकॉर्ड

वहीं वैज्ञानिक अब इसकी जांच में जुट गए हैं कि ये डकार क्या है और इसका स्रोत क्या है ?  क्योंकि क्यूरियोसिटी रोवर ने मंगल ग्रह पर उतरने के बाद से अबतक 6 बार डकार की आवाज को रिकॉर्ड किया है। हैरानी की बात ये है कि आसपास आवाज निकालने वाला कुछ दिखता नहीं है। नासा के वैज्ञानिकों के लिए भी ये घटना हैरानी वाली है।

नासा के क्यूरोसिटी ने 2012 में किया था लैंड

दावा किया जा रहा है कि एलियन की डकार की वजह से अचानक मंगल पर मीथेन गैस का लेवल बढ़ गया है। आवाजों के साथ ही मंगल ग्रह पर मीथेन बढ़ने को एलियंस से जोड़ा जा रहा है। बता दें कि मार्स पर नासा के क्यूरोसिटी ने 2012 में लैंड किया था। इसके बाद से ही ये मंगल पर मीथेन का लेवल माप रहा था। अभी तक 6 बार इस ग्रह पर मीथेन का लेवल तेजी से बढ़ा है। इसके पीछे एलियंस की डकार को वजह बताया जा रहा है।

मंगल पर मीथेन की मात्रा बढ़ी

कैलिफोर्निया इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी ने अपने रिसर्च पेपर में लिखा कि मंगल पर मीथेन की मात्रा काफी बढ़ गई है। खासकर वेस्ट और साउथवेस्ट हिस्से में मीथेन की मात्रा बढ़ी है। जिससे साफ है कि इन दोनों हिस्सों में एलियंस हो सकते हैं। रोवर में कैद हुई आवाजों को डकार माना जा रहा है।

रिसर्चर्स का कहना है कि जैसे पृथ्वी पर मीथेन बढ़ने का कारण प्रदुषण से लेकर बाकि की चीजें होती है, वैसे ही मंगल पर इसकी वजह एलियंस की डकार है। इससे ये भी बात साफ़ होती है कि मंगल पर जिंदगी है।

‘…भाजपा सरकार के दिन हैं बचे चार’

Previous article

गोरखपुर: अस्पताल प्रबंधन और डॉक्टरों की लापरवाही ने ली गर्भवती की जान, पढ़ें पूरी खबर

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured