featured देश लाइफस्टाइल हेल्थ

WORLD AIDS DAY 2021: ‘विश्व एड्स दिवस’ आज, जानें इस साल की थीम और इतिहास

world aids day

WORLD AIDS DAY 2021 || 1 दिसंबर यानी विश्व एड्स दिवस (WORLD AIDS DAY)  हर साल इस तारीख को मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य लोगों में एड्स (AIDS) को रोकने के लिए जागरूकता फैलाना है। साथ ही एचआईवी या एड्स से पीड़ित लोगों के खिलाफ हो रहे भेदभाव को रोकना एवं समाज में इससे जुड़े मिथ्या को दूर करना और लोगों को जानकारी देना है। 

विश्व एड्स दिवस 2021 की थीम

हर साल विश्व एड्स दिवस की एक नई थीम के साथ इस पहल को आगे बढ़ाया जाता है। और इस बार विश्व एड्स दिवस 2021 की थीम  ‘असमानताओं को समाप्त कर, एड्स को खत्म करें’ रखी गई है। विश्व स्वास्थ्य संगठन का कहना है कि इस साल का मुख्य उद्देश्य विश्व भर में आवश्यक एचआईवी की बढ़ती और समानता हूं को उजागर करना है डब्ल्यूएचओ ने आगे कहा है कि विभाजन और समानता मांगा अधिकार की अवहेलना उन विफलताओं में से एक है जिन्होंने एचआईवी को एक वैश्विक संकट का रूप दिया है।  

aids WORLD AIDS DAY 2021: 'विश्व एड्स दिवस' आज, जानें इस साल की थीम और इतिहास

क्या है एड्स?

एड्स यानि एक्वायर्ड इम्यूलनो डेफिसिएंशी सिंड्रोम ये ह्यूमन इम्यूनो डेफिशियेंसी यानि एचआईवी वायरस के संक्रमण के कारण होने वाला महामारी का रोग है. एड्स स्वयं में कोई रोग नहीं है बल्कि एक संलक्षण है. यह मनुष्य की अन्य रोगों से लड़ने की नैसर्गिक प्रतिरोधक क्षमता को घटा देता हैं. प्रतिरोधक क्षमता के क्रमशः क्षय होने से कोई भी अवसरवादी संक्रमण, यानि आम सर्दी जुकाम से ले कर फुफ्फुस प्रदाह, टीबी, क्षय रोग, कर्क रोग जैसे रोग तक सहजता से हो जाते हैं और उनका इलाज करना कठिन हो जाता हैं और मरीज़ की मृत्यु भी हो सकती है. यही कारण है की एड्स परीक्षण महत्वपूर्ण है.

एड्स के बारे में खास बातें-

  • 1959 में अफ्रीका में एड्स का पहला मामला आया था.
  • विश्व एड्स दिवस की कल्पना पहली बार 1987 में अगस्त के महीने में थॉमस नेट्टर और जेम्स डब्लयू बन्न ने की थी.
  • एड्स् एक ऐसी बीमारी है, जो इंसान की किसी भी संक्रमण से लड़ने की क्षमता को प्रभावित करता है.
  • अभी तक एड्स की बीमारी से लड़ने का कोई इलाज नहीं मिल पाया है.
  • एचआईवी महामारी को समाप्त करना- लचीलापन और प्रभाव, ये इस साल की थीम है

hiv aids disease WORLD AIDS DAY 2021: 'विश्व एड्स दिवस' आज, जानें इस साल की थीम और इतिहास

विश्व एड्स दिवस (World Aids Day) का इतिहास 

बता दें कि विश्व एड्स दिवस (World Aids Day) सबसे पहले अगस्त 1987 में जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर नाम के व्यक्ति ने मनाया था। जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर विश्व स्वास्थ्य संगठन में एड्स पर ग्लोबल कार्यक्रम (WHO) के लिए अधिकारियों के रूप में जिनेवा, स्विट्जरलैंड में नियुक्त थे। जेम्स डब्ल्यू बुन और थॉमस नेटर ने WHO के ग्लोबल प्रोग्राम ऑन एड्स के डायरेक्टर जोनाथन मान के सामने विश्व एड्स दिवस मनाने का सुझाव रखा। जोनाथन को विश्व एड्स दिवस (World Aids Day) मनाने का विचार अच्छा लगा और उन्होंने 1 दिसंबर 1988 को विश्व एड्स डे मनाने के लिए चुना। बता दें कि आठ सरकारी सार्वजनिक स्वास्थ्य दिवसों में विश्व एड्स दिवस शामिल है।

Related posts

आखिरकार शादी के समय ही क्यों लिए जाते हैं अग्नि के 7 फेरे

kumari ashu

शाम पांच बजे तक ये रहा वोटिंग प्रतिशत, देखें उत्तर प्रदेश और बिहार के साथ राज्यों के मतदान

bharatkhabar

गौतमबुद्ध नगर जिलाधिकारी पद से हटाए गए बीएन सिंह, सुहास एलवाई बनाए गए नोएडा के नए डीएम

Rani Naqvi