pub ji 1 पबजी भारत में क्यों हुआ बैन, जानकर आप हो जायेंगे हैरान
  • तकनीकि डेस्क || भारत खबर

हाल ही में भारत सरकार ने मोबाइल गेमिंग एप पबजी सहित 118 एप्स पर सुरक्षा कारणों से प्रतिबंध लगा दिया है। मोबाइल यूजर्स को अभी तक यह नहीं पता होगा कि पबजी एप आपकी कौन-कौन से डाटा को इकट्ठा करता था और कौन-कौन से आपकी इस जरूरी जानकारियों को अपने पास बिठाकर दूसरों को देता था।

भारत सरकार ने अपने बयान में कहा कि प्रतिबंधित किए गए मोबाइल ऐप भारत की संप्रभुता, अखंडता, सुरक्षा और शांति-व्यवस्था के लिए खतरा थे। भारत सरकार ने कहा है कि सरकार द्वारा प्रतिबंधित किए गए इन एप्स से इंटरनेट यूजर्स के डाटा और निजी सुरक्षा को सिक्योर रखने में मदद मिलेगी। 

आपकी ये सभी निजी जानकारियां पबजी करता था एकत्र

जब भी आप अपने मोबाइल में कोई एप्लीकेशन इंस्टॉल करते हैं तो मोबाइल एप्लीकेशन आपके मोबाइल के कई सारे अदर एप्लीकेशंस में एक्सेस करने की परमिशन मांगता है आप जब उस परमिशन को यस कर देते हैं तो आप यह समझें कि आपके मोबाइल की हर एक प्रतिक्रिया उस एप्लीकेशन का जो सरवर है वहां पर जाकर स्टोर होने लगता है।

पबजी मोबाइल (PUBG Mobile) के मामले में इसके पास यूजर्स के माइक, फोन के स्टोरेज, ब्लूटूथ कंट्रोल, वाइब्रेशन कंट्रोल, गूगल प्ले की बिलिंग सर्विस और लाइसेंस चेक, इंटरनेट एक्सेस, वाईफाई कनेक्शन, नेटवर्क कनेक्शन, ऑडियो सेटिंग आदिक का कंट्रोल होता था। जिसके माध्यम से गेमिंग के दौरान यूजर्स का एक दूसरे से बात कर पाना, डेटा स्टोर करना आदि कर सकते थे। 

लेकिन पबजी मोबाइल की परमिशन का मिशन यहीं खत्म नहीं होता था। गेम खेलते वक्त PUBG Mobile के पास यूजर्स के IP एड्रेस के साथ साथ डिवाइस आईडी और डिवाइस इन्फॉर्मेशन भी जाती थी। इसमें यूजर्स के फोन की बैटरी लाइफ, वाईफाई स्ट्रेंथ, रैम और स्टोरेज, ऑपरेटिंग सिस्टम, कंट्री कोड आदि शामिल हैं। गेम के पास चैट डेटा और इवेंट रजिस्ट्रेशन की जानकारी भी होती थी।

पबजी मोबाइल (PUBG Mobile) यूजर्स को इस गेम को खेलने के लिए कई जानकारियां साझा करनी होती थी। इसके लिए उन्हें अपना एक अकाउंट बनाना होता था, जो नाम, ईमेल आईडी आदि जानकारी मांगता था। यदि आप फेसबुक, ट्विटर या गूगल प्ले के जरिए अपना अकाउंट क्रिएट करते थे, तो गेम के पास आपका नाम, प्रोफाइल पिक्चर, फ्रेड लिस्ट और यूजर आईडी जैसे जानकारियां होती थी। भारत सरकार का कहना है कि पबजी मोबाइल भारतीय यूजर्स का डेटा चोरी कर रहा है, वह यूजर्स का डेटा सर्वर के जरिए भारत से बाहर ट्रांसफर करता है। जबकि पबजी मोबाइल का कहना है कि गेम को चलाने के लिए इन डेटा की जरूरत पड़ती है और इस डेटा को भारत में ही स्टोर किया जाता था।

Trinath Mishra
Trinath Mishra is Sub-Editor of www.bharatkhabar.com and have working experience of more than 5 Years in Media. He is a Journalist that covers National news stories and big events also.

पब्लिक हेल्थ सेक्टर में विश्व को एकसाथ करना चाहिये निवेश: WHO प्रमुख

Previous article

जमानत खारिज, 22 सितम्बर तक न्यायिक हिरासत में रहेगी रिया चक्रवर्ती

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.