बीजेपी ने राहुल पर साधा निशाना, पूर्व के मामलों में क्यों नहीं निकाला कैंडिल मार्च

नई दिल्ली। भाजपा ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर निशाना साधते हुए दोहरा मापदंड अपनाने का आरोप लगाया है। पार्टी ने कहा कि कठुआ मामले में तो उन्होंने कैंडिल मार्च निकाला लेकिन इसके पूर्व के मामलों के पीड़ितों के पक्ष में ऐसा क्यों नहीं किया। भाजपा सांसद मीनाक्षी लेखी ने कठुआ में आठ साल की बच्ची और उन्नाव में युवती के साथ गैंगरेप मामले पर सफाई देते हुए मीडिया में इस घटना का सिर्फ एक ही पक्ष की रिपोर्टिंग का आरोप लगाया।

बता दें कि लेखी ने भाजपा मुख्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कठुआ और उन्नाव की घटना पर पार्टी का पक्ष रखा। उन्होंने कहा कि कठुआ पर जम्मू-कश्मीर भाजपा इकाई ने एक अप्रैल को ही बयान जारी कर अपराधियों पर कार्रवाई की बात कही लेकिन मीडिया ने इसे नहीं दिखाया। मीनाक्षी लेखी ने कहा कि 12 अप्रैल को हमारी पार्टी के अनशन के दौरान भी मीडिया द्वारा हमसे कठुआ और उन्नाव के बारे में ही पूछा जा रहा था।

वहीं भाजपा नेता ने कठुआ और उन्नाव के मामले की असम के एक बलात्कार की घटना से तुलना करते हुए कहा कि उन्नाव का मामला 10 महीने पुराना है, कठुआ की घटना जनवरी की है लेकिन अप्रैल में असम में भी एक घटना हुई। उन्होंने कहा कि पांचवी कक्षा की 12 साल की छात्रा से बलात्कार हुआ और उसे केरोसीन डालकर जलाया गया। इस घटना में शामिल शख्स 21 साल का जाकिर हुसैन था।

साथ ही लेखी ने कठुआ की घटना के आरोपियों के बचाव में आयोजित एक प्रदर्शन में राज्य सरकार में भाजपा के दो मंत्रियों के शामिल होने के सवाल पर कहा कि दोनों मंत्रियों को इस मामले में भ्रम में रखा गया था। उन्होंने कहा कि कठुआ मामले में निष्पक्ष जांच हुई है। विशेष जांच दल ने घटना में 6-7 लोगों को गिरफ्तार किया है। उन्नाव मामले में राज्य सरकार ने सीबीआई को जांच सौंप दी है और जांच एजेंसी ने अपनी कार्रवाई शुरु कर दी है।