January 28, 2022 5:37 am
featured दुनिया

तालिबान के कब्जे के बाद आखिर कहां गई अफगानिस्तान की एयर फोर्स और उसके 242 जेट?

55 तालिबान के कब्जे के बाद आखिर कहां गई अफगानिस्तान की एयर फोर्स और उसके 242 जेट?

अफगानिस्तान पर इस वक्त तालिबान का कब्जा है। इस वक्त हर देश में सिर्फ अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे की ही बात हो रही है। आपको बता दें कि जिस वक्त तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया था उस वक्त अफगानिस्तान के पास एक वेल ट्रेंड सेना थी जिसकों अमेरिका से ट्रेनिंग दिलाई गई थी। इतना ही नहीं अफगानिस्तान के पास 242 विमान और हेलीकॉपटर थे। इन हेली कॉपटर की चार अलग-अलग विंग को अफगानिस्तान के 4 अलग-अलग इलाकों में तैनात किया गया था। लेकिन जिस वक्त तालिबान ने अफगानिस्तान पर कब्जा किया तो उसके ज्यादातर विमान गायब हो गए और तालिबान को मिला सिर्फ कबाड़। बिल्कुल उसी तरह जैसा नजारा अफगानिस्तान को भारत की ओर दिए MI24 का देखा था। देखने में तो वह हेलीपॉटर था लेकिन उसके अंदर एक भी पुरजा नहीं था। इस बात से अंदाजा लगाया जा सकता है कि आखिर क्यों अफगानिस्तान ने अपनी एयर सेना का इस्तेमाल तालिबान के लिए ना के बराबर किया। जबकि उनके पास इसकी शानदार ताकत थी।

44 तालिबान के कब्जे के बाद आखिर कहां गई अफगानिस्तान की एयर फोर्स और उसके 242 जेट?

बता दें कि साल 2002 में अफगानिस्तान ने अपनी नई एयर फोर्स तैयार की थी। जिसका हेड क्वाटर काबूल में बनाया गया था। अफगान के पास 243 एयरक्राफ्ट  थे जिनमें फायटर जेट, हेली कॉपटर, ट्रांसपोर्ट एयर क्राफ का काफी बड़ा बेडा था। इयर फोर्स के पास 7 हजार से ज्यादा सैन्य कर्मी थे। लेकिन जिस वक्त अगानिस्तान पर तालिबान का कब्जा हुआ उस वक्त अफगान एयर फोर्स खाली हो चुकी थी। या यूं कहे कि तालिबान के कब्जे से पहले ही अफगानिस्तान के सैनिक और विमान पड़ोसी देशों की ओर उड़ गए थे।

33 तालिबान के कब्जे के बाद आखिर कहां गई अफगानिस्तान की एयर फोर्स और उसके 242 जेट?

अब काबूल पर जो बचे हुए एयर विमान खड़ें हैं वह सिर्फ कबाड़ है। इनमें सबसे खास विमान A29 सुपर टूकानों लाइट फायटर इसको ब्राजील ने बनाया था। ये विमान सिमित अभियानों में शानदार माना जाता है। इसको कई तरह के हथियारों से लैस किया जा सकता है। इस विमान का निशाना अचूक है। जो दुश्मन को बचने का मौका नहीं देता। लेकिन इसका इस्तेमाल सिर्फ निचे रहने वाले लक्ष्यों पर ही होता है।

22 तालिबान के कब्जे के बाद आखिर कहां गई अफगानिस्तान की एयर फोर्स और उसके 242 जेट?

वहीं कहा जाता है कि इसके रिजल्ट अच्छे रहे हैं। लेकिन इस वक्त इसके ज्यादातर विमान अफगानिस्तानी सैनिक बाहर के देशों में लेकर उड़ चुके हैं। शायद जो विमान काम नहीं कर रहे उन पर तालिबान ने कब्जा कर लिया है। इसके अलावा अफगानिस्तान के पास दूसरी खास चीज थी। MI8 17 ट्रांसपोर्ट हेली कॉपटर इन हेली कॉपटर्स को रूस ने बनाया था। इनसा इस्तेमाल मूल रूप से सामान ढोने और लोगों को लाने-लेजाने के लिए सैनिए जरूरतों के लिए उपयोगी है। दुनिया के 40 देश ऐसे हैं जो इसका इस्तेमाल कर रहें हैं। हालांकि अफगानिस्तान के पास ये हेलीकॉपटर काफी पुराने है। अफगान के पास ये हेली कॉपटर उस जमाने के हैं जब वहां पर सोवियत फौज हुआ करती थी।

Related posts

जीएसटी लागू होने के बाद पीएम मोदी की पाठशाला

piyush shukla

समुद्र किनारे अजीब जानवरों के अवशेष मिलने से लोगों के उड़े होश..

Mamta Gautam

सीएम चौहान ने पिछड़ा वर्ग महाकुंभ में समाज-सेवियों को किया सम्मानित

mahesh yadav