national milk day आज है NATIONAL MILK DAY, जानिये क्यों मनाया जाता है ये दिन

भारत में श्वेत क्रांति के जनक और मिल्कमैन के नाम से मशहूर डॉ. वर्गीज कुरियन को सम्मानित करने के उद्देश्य से हर साल 26 नवंबर को ‘नेशनल मिल्क डे’ मनाया जाता है.
नेशनल डेयरी डेवलपमेंट बोर्ड (एनडीडीबी), इंडियन डेयरी एसोसिएशन (आईडीए) और 22 राज्य स्तरीय दुग्ध संघों ने मिलकर 26 नवंबर को भारत की श्वेत क्रांति के जनक के रूप में जाने जाने वाले डॉ वर्गीज कुरियन का जन्मदिन मनाने का फैसला किया. इसलिए पहला राष्ट्रीय दुग्ध दिवस 26 नवंबर, 2014 को मनाया गया.
क्या आप श्वेत क्रांति और ऑपरेशन बाढ़ के बारे में जानते हैं?
1970 में, भारत के राष्ट्रीय डेयरी विकास बोर्ड (एनडीडीबी) ने एक ग्रामीण विकास कार्यक्रम शुरू किया, जिसे ऑपरेशन फ्लड के नाम से जाना जाता है. यह सबसे बड़े कार्यक्रमों में से एक है और इसका उद्देश्य राष्ट्रव्यापी दुग्ध ग्रिड विकसित करना था. यह दुग्ध व्यापारियों और व्यापारियों द्वारा की गई गड़बड़ियों को कम करने में मदद करता है और इसके परिणामस्वरूप भारत को दुग्ध और दुग्ध उत्पादों के सबसे बड़े उत्पादकों में से एक बनाना है. इसलिए इसे श्वेत क्रांति के नाम से भी जाना जाता है.
उस समय एनडीडीबी के अध्यक्ष डॉ वर्गीज कुरियन थे जिन्होंने सहकारी क्षेत्र को प्रबंधन कौशल और आवश्यक बल दिया और उन्हें भारत की श्वेत क्रांति या ऑपरेशन बाढ़ का निर्माता माना जाता है.
जैसा कि हम जानते हैं कि भारत दूध का सबसे बड़ा उत्पादक है. राष्ट्रीय दूध दिवस हर किसी के जीवन में दूध के महत्व पर प्रकाश डालता है. दूध वो भोजन है जिसका सेवन न केवल मनुष्य करते हैं बल्कि पशुओं द्वारा भी किया जाता है. बता दें कि हर साल 1 जून को विश्व दुग्ध दिवस भी मनाया जाता है, जिसकी स्थापना खाद्य एवं कृषि संगठन ने की थी.
दूध पोषण तथ्य
दूध और डेयरी उत्पाद पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं.
दूध में कैल्शियम, आयोडीन, फास्फोरस और विटामिन बी 2, बी 12 होते हैं.
दूध पीने से पाचन क्रिया अच्छी होती है.
दूध में मौजूद ट्रिप्टोफैन, सेरोटोनिन के रूप में, शरीर को ऊर्जा और कायाकल्प प्रदान करता है.
दूध में कैल्शियम हड्डियों और दांतों के लिए अच्छा होता है.
यह नेत्र स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा है
इसमें मौजूद पोटैशियम रक्तचाप को बढ़ने से रोकता है.
एक वयस्क को रोजाना कम से कम 150 मिली दूध पीना चाहिए.
100 मिली गाय के दूध में 87.8 ग्राम पानी होता है.

‘पौरुषपुर’ बेवसीरीज में महारानी के किरदार में नजर आएंगी एक्ट्रेस शिल्पा शिंदे, जानिए क्या इसमें खास

Previous article

13 वर्षीय छात्र ने चलाया कोरोना के विरूद्ध जन जागरूकता अभियान, संक्रमण से बचने के लिए सैलानियों को दिलाई शपथ

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.