August 15, 2022 12:55 am
featured धर्म

विजया एकादशी आज, पूजा-पाठ से भगवान विष्णु को करें प्रसन्न

Lord Vishnu copy 1 विजया एकादशी आज, पूजा-पाठ से भगवान विष्णु को करें प्रसन्न

आज विजया एकादशी है। शास्त्रों में एकादशी के महत्व के बारे में बताया गया है। शास्त्रों में लिखा है एकादशी महीने में दो बार आती है। पहली शुक्ल पक्ष के बाद और दूसरी कृष्ण पक्ष के बाद आती है। पूर्णिमासी के बाद आने वाली एकादशी को कृष्ण पक्ष की एकादशी कहा जाता है। और अमावस्या के बाद आने वाली एकादशी को शुक्ल पक्ष की एकादशी को कहा जाती है।

एकादशी का होता है महत्व

शास्त्रों में बताया गया है कि हर पक्ष की एकादशी का अपना अलग महत्व होता है। हिंदू शास्त्रों के अनुसार फागुन या फाल्गुन मास के बाद आने वाली कृष्ण पक्ष की एकादशी को विजया एकादशी कहा जाता है। यह एकादशी महाशिवरात्रि से दो दिन पहले पड़ती है। इस साल विजया एकादशी 9 मार्च यानी की आज है।

पद्म पुराण के अनुसार, भगवान शिव ने स्वयं नारद जी को उपदेश देते हुए कहा था, एकादशी महान पुण्य देने वाली होती है। कहा जाता है कि जो मनुष्य एकादशी का व्रत रखता है उसके पितृ और पूर्वज कुयोनि को त्याग स्वर्ग लोक चले जाते हैं।

विजया एकादशी व्रत मुहूर्त-

एकादशी तिथि आरंभ- 08 मार्च 2021 दिन सोमवार दोपहर 03 बजकर 44 मिनट से
एकादशी तिथि समाप्त- 09 मार्च 2021 दिन मंगलवार दोपहर 03 बजकर 02 मिनट पर
विजया एकादशी पारणा मुहूर्त- 10 मार्च को 6 बजकर 37 मिनट से 8 बजकर 59 मिनट तक।
अवधि- 2 घंटे 21 मिनट

कैसे करें पूजा-

– सुबह उठकर स्‍नान करने के बाद साफ वस्‍त्र पहनें और एकादशी का व्रत रखें।
– घर के मंदिर में पूजा करने से पहले एक वेदी बनाकर उस पर (उड़द, मूंग, गेहूं, चना, जौ, चावल और बाजरा) रखें।
– वेदी के ऊपर एक कलश की स्‍थापना करें और उसमें आम या अशोक के 5 पत्ते लगाएं।
– वेदी पर भगवान विष्‍णु की मूर्ति या तस्‍वीर रखें।
– भगवान विष्‍णु को पीले फूल, ऋतुफल और तुलसी दल समर्पित करें।
– धूप-दीप से विष्‍णु की आरती उतारें।
– शाम के समय भगवान विष्‍णु की आरती करने के बाद फलाहार का सेवन करें।
– रात्रि के समय सोए नहीं बल्‍कि भजन-कीर्तन करते हुए जागरण करें।
– अगले दिन सुबह किसी ब्राह्मण को भोजन कराएं, दान-दक्षिणा देकर विदा करें।
– ब्राह्मण को दान देने के बाद खुद भी भोजन कर व्रत खत्म करें।

Related posts

SA vs PAK: दूसरे टेस्ट मैच में साउथ अफ्रीका जीत के करीब, पाकिस्तान पर मडरा रहा हार का खतरा

Ankit Tripathi

खुद को सफल कप्तान मानते है विराट कोहली

Trinath Mishra

मार्केट में धड़ल्ले से बिक रहा एंटी कोरोना लॉकेट, जानें सच

Trinath Mishra