विजय माल्या कर्नाटक में डालना चाहता है वोट, बोला ये मेरा लोकतांत्रिक अधिकार है

नई दिल्ली। विजय माल्या प्रत्यर्पण मामले में शुक्रवार को लंदन के वेस्टमिनिस्टर कोर्ट में सुनवाई शुरू हुई। सुनवाई से पहले माल्‍या ने कहा कि वो कर्नाटक का प्रतिनिधित्‍व करता है और यहां वोट डालना चाहता है। बता दें कि आज माल्‍या के द्वारा प्रत्‍यर्पण के खिलाफ उठाए गए सवालों और तर्कों को लिखित में प्रस्‍तुत किया जाएगा। इसके बाद कोर्ट अपने आखिरी फैसले का दिन भी घोषित कर सकता है।

बता दें कि कोर्ट ने माल्‍या को चार हफ्ते के अंदर खुद पर लगे आरोपों के खिलाफ तर्क और सबूत देने को कहा था। शुक्रवार को होने वाली सुनवाई पर विजय माल्‍या ने कहा कि, ‘देखते हैं कोर्ट की कार्यवाही में क्‍या होता है। कर्नाटक में वोट करने का मेरा लोकतांत्रिक अधिकार है, लेकिन मेरी बेल की शर्तें इस बात की इजाजत नहीं देती।

आपको बता दें कि मार्च 2016 में ब्रिटेन जा चुके माल्या विभिन्न भारतीय बैंकों से 9,000 करोड़ रुपये का कर्ज ले कर उसे न चुकाने के मामले में भारत में वांछित हैं। पिछले कुछ महीने में विभिन्न अदालतों में पेशी के दौरान राज्यसभा के पूर्व सदस्य माल्या ने वकील के जरिए बताया कि उन्होंने कुछ भी गलत नहीं किया है और उन पर लगाए गए आरोप वास्तव में गढ़े हुए हैं। दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने विजय माल्या को फरार अपराधी घोषित किया है। मुंबई के बाद दिल्ली की अदालत ने भी माल्या को भगोड़ा अपराधी घोषित किया है।