September 21, 2021 10:34 pm
featured उत्तराखंड

राज्य में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की स्थिति के बारे में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग की

उत्पल कुमार सिंह राज्य में कोरोना वायरस के संदिग्ध मरीजों की स्थिति के बारे में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग की 

देहरादून। राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण एवं जनपदों में संदिग्ध मरीजों की स्थिति के बारे में मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह द्वारा सभी जनपदों के जिला अधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारियों के साथ वीडियो कान्फ्रेंसिंग की गई। मुख्य सचिव द्वारा जनपदों में एन्ट्री प्वाईंट पर बाहर से आ रहे यात्रियों एवं पर्यटको की स्क्रीनिंग किये जाने एवं संदिग्ध यात्रियों के बारे मे जानकारी प्राप्त की गई। उन्होने निर्देश दिये की विदेश या अन्य प्रदेशों से आ रहे सभी यात्रियों/पर्यटको को चिन्हित किया जाये और सूचना अपडेट रखी  जाए ताकि स्थिति पर प्रभावी नियंत्रण किया जा सके।

मुख्य सचिव ने होम क्वारेंटाइन मे रह रहे लोगों का निरन्तर फॅालो अप किये जाने के निर्देश दिये और कहा कि सभी जिला अधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारी आइसोलेषन एवं क्वारेंटाइन फेसिलिटी पर उपलब्ध सुविधाओं, स्वच्छता आदि व्यवस्थाओं का भी पूर्ण रूप से ध्यान रखें ताकि चिन्हित लोगों को उन स्थानों पर 14 दिनों तक रहने मे किसी प्रकार की दिक्कत ना हो।

मुख्य सचिव ने जिला अधिकारियों से कहा कि वह रियल टाईम सिचुएशन के अनुसार तैयार रहें क्योंकि यदि स्थिति गम्भीर होती है तो उस स्थिति का मुकाबला करने में कठिनाईयां आ सकती है, इसलिए सभी जिला अधिकारी एवं मुख्य चिकित्साधिकारी को वास्तविक स्थिति के अनुसार चौकस रहने की आवश्यकता है। मुख्य सचिव ने सभी जिला अधिकारियों को निर्देश दिये कि वह सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर फैलाई जा रही अफवाहों को रोकने के लिए ऐसा करने वाले व्यक्तियों पर कड़ी कार्यवाही करें ताकि जनता में भ्रान्ति फैलाने से रोके जा सके और ऐसा कार्य करने वाले लोगों पर पाबंदी लग सके।

वीडियो कान्फ्रेंसिंग मे सचिव स्वास्थ्य ने कहा की कोरोना वायरस संक्रमण एक वैष्विक आपदा है इसलिए इससे निपटने के लिए दूरगामी परिणामों को ध्यान मे रखते हुए कार्य करने की आवश्यकता है। स्वास्थ्य सचिव श्री नितेश झा ने बताया कि पिछले 14 दिनों की विदेश यात्रा वाले सभी यात्री एवं उनके नजदीकी सम्पर्क को सतर्कता की श्रेणी मे रखें और सब की स्क्रीनिंग की जाये। सचिव ने निर्देश दिये कि आने वाली स्थिति को नियंत्रित करने के लिए सेवानिवृत पैरा मेडिकल स्टाफ एवं सेना मे काम कर चुके सेवानिवृत मेडिकल कार्मिको की जानकारी ले कर सूची बना लें और आवश्यकता पडने पर  उनकी सेवाएं लिये जाने की कार्य योजना तैयार कर ली जाये।

सचिव स्वास्थ्य ने निर्देश दिये कि कल जनता कर्फ्यू के कारण चिकित्सालयों मे मरीजों की संख्या नगण्य रहेगी जिसे देखते हुए सभी चिकित्सालयों मे कोरोना वायरस संक्रमण की आंषका को देखते हुए एक माॅक ड्रिल कर ली जाये। सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि इस आपात स्थिति पर प्रभावी नियंत्रण के लिए सम्बन्धित चिकित्सकों एवं पैरा मेडिकल स्टाफ द्वारा माॅक ड्रिल केे माध्यम से सतर्क एवं तैयार रहने का अभ्यास भी हो पायेगा। वीडियो कान्फ्रेंसिंग मे प्रभारी सचिव स्वास्थ्य डा0 पंकज कुमार पाण्डे, मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन उत्तराखंड युगल किषोर पन्त, महानिदेशक डा0 अमिता उप्रेती, प्रभारी अधिकारी आई0डी0एस0पी0 डा0 पंकज कुमार सिंह एवं अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहें।

Related posts

विश्व हिंदू परिषद के कार्यक्रम में शामिल होंगे सीएम योगी आदित्यनाथ

Breaking News

आखिर क्यों चर्चा में आ रहा है रोहित शर्मा का जूता, जानिए पूरी कहानी

Aditya Mishra

होली के दिन दोपहर तक बंद रहेगी मेट्रो, जानिये क्या होगा असर

Aditya Mishra