August 15, 2022 12:28 am
featured यूपी

बेड, ऑक्सीजन की तलाश में साइबर ठगी का ना हों शिकार

बेड, ऑक्सीजन की तलाश में साइबर ठगी का ना हो शिकार

प्रयागराज: एक तरफ मरीज अस्पताल में दवाई, ऑक्सीजन और अन्य सुविधाओं के लिए परेशान रहते हैं। वहीं बाहर कुछ लोग लगातार दवाइयों और इंजेक्शन की कालाबाजारी कर रहे हैं। ऐसा ही नजारा प्रयागराज में देखने को मिला। जहां ऑक्सीजन और रेमडेसीविर इंजेक्शन की कालाबाजारी जारी है।

साइबर ठग शहर में एक्टिव

संगम नगरी में इन दिनों ऑनलाइन तकनीकों का इस्तेमाल करके फ्रॉड किया जा रहा है। ऐसा ही मामला शहर में देखने को मिला, जिसमें ठगी करने के लिए ऑनलाइन सुविधाओं का इस्तेमाल किया जा रहा है। इसके माध्यम से लोगों को हॉस्पिटल में बेड, ऑक्सीजन और इंजेक्शन उपलब्ध करवाने का झांसा दिया जाता है।

एसएसपी ने दी चेतावनी

एसएसपी प्रयागराज सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने कालाबाजारी करने वाले लोगों को चेतावनी दी। इसके साथ ही आम लोगों से भी सतर्क रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि ऐसे कई मामले देखने को मिल रहे हैं, जिसमें साइबर ठगी सामने आ रही है। लोग इस झांसे में आकर अपना पैसा ट्रांसफर कर लेते हैं। जिसके बाद उन्हें सुविधाएं नहीं मिलती। इसके लिए भारी-भरकम रकम चुकाने के बाद कोई मदद नहीं उपलब्ध होती।

ऑक्सीजन,

उन्होंने कहा कि हॉस्पिटल की तरफ से कभी किसी मरीज या उनके रिश्तेदार से पैसे नहीं मांगे जा रहे हैं। इस तरह की लापरवाही और ठगी का मामला देखने पर तुरंत पुलिस को संपर्क करें और स्थानीय नंबर पर उनको जानकारी दें। पुलिस लगातार ऐसे साइबर अपराधियों की तलाश कर रही है और उन्हें जेल में डालने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

इसके साथ ही सर्वश्रेष्ठ त्रिपाठी ने हम लोगों से सावधान और सतर्क रहने की अपील की। उन्होंने कहा कि इस महामारी के दौर में लोग किसी की मजबूरी का फायदा उठाने से नहीं चूक रहे हैं। ऐसे में अपना पैसा और समय दोनों बर्बाद होने से बचाएं।

Related posts

शिवराज के खिलाफ चुनावी मैदान में उतरे अरुण यादव,कहा खनन माफिया हैं सीएम!

mahesh yadav

बिहार में IAS प्रीलिम्स पास करने वालों के लिए खुशखबरी-मिलेंगे 1लाख रुपये

mohini kushwaha

महामारी से देश बेहाल, 24 घंटे में 3.49 लाख से ज्यादा केस, 2767 मौतें

pratiyush chaubey