हरदोई: PM आवास के लिए घूस लेते पकड़ा गया ग्राम विकास अधिकारी

हरदोई: प्रधानमंत्री आवास योजना गरीबों के लिए है, लेकिन जिम्‍मेदार उसमें भी अपना हिस्‍सा लगा रहे हैं। पीएम आवास योजना की दूसरी किश्‍त दिलाने के नाम पर रिश्‍वत देने वाला ग्राम विकास अधिकारी रंगे हाथों पकड़ा गया है।

5000 रुपए लेते धरा गया वीडीओ

जिले में बुधवार को एंटी करप्‍शन की टीम ने पीएम आवास योजना की दूसरी किश्‍त दिलाने के नाम पर लाभार्थी से पांच हजार रुपये लेने वाले ग्राम विकास अधिकारी को रंगे हाथ दबोच लिया। वीडीओ ने पीड़ित से 20 हजार की मांग की थी। इसी में से वह 5000 रुपए पहले ले रहा था, लेकिन उसी वक्‍त एंटी करप्‍शन की टीम ने उसे रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

इस मामले में ग्राम विकास अधिकारी के खिलाफ कछौना कोतवाली में एफआइआर दर्ज की गई है। दरअसल, कोथावां विकास खंड के फरेंदा निवासी सूबेदार को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत आवास आवंटित हुआ था। पहली किश्‍त पर काम पूरा हो चुका है और दूसरी किश्‍त जारी होनी थी। मगर, ग्राम विकास अधिकारी कामता प्रसाद उससे 20 हजार रुपये मांग रहा था।

पीड़ित ने बताई पूरी बात

पीड़ित सूबेदार का कहना है कि वीडीओ ने कहा था कि 20,000 रुपये देने के बाद ही दूसरी किश्‍त मिलेगी। काफी कहने पर उन्होंने कहा कि 5000 रुपये पहले देने का कहा और बाकी के 15,000 रुपये किश्‍त आने के बाद देने को कहा। इससे परेशान होकर पीड़ित ने एंटी करप्शन विभाग की शरण ली।

इस बात की जानकारी होते ही एंटी करप्‍शन की टीम सतर्क हो गई और बुधवार को कछौना में रुपये देने की बात पक्की हुई। आज दोपहर जब ग्राम विकास अधिकारी कामता प्रसाद ने सूबेदार को बस अड्डे पर बुलाया तो उसके पीछे पीछे एंटी करप्‍शन की टीम भी पहुंच गई। जैसे ही वीडीओ ने सूबेदार से 5000 रुपये लिए, टीम ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। इसके बाद उसे कोतवाली लाया गया, जहां उसके खिलाफ एफआइआर लिखी गई। वहीं, कोतवाली प्रभारी हंसमती के मुताबिक, ग्राम विकास अधिकारी कामता प्रसाद को गुरुवार को जेल भेजा जाएगा।

अब UP में वजूद में आएगी पीएसी महिला बटालियन, हुआ नामकरण

Previous article

सीएम तीरथ सिंह रावत ने की समीक्षा बैठक, अपर मुख्य सचिव से लेकर आलाधिकारी रहे मौजूद

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.