वाराणसी: गंगा के घाटों पर चला विशेष सफाई अभियान, 30 टन कचरा साफ

वाराणसी: वाराणसी में स्थानीय लोगों का साथ मिला तो गंगा जी को गंदगी से थोड़ा आराम मिल गया। लोगों के सहयोग से गंगा से 30 टन कचरा बाहर निकाला गया।

काशी में विशेष सफाई अभियान में रविवार को गंगा के सभी घाटों को एक साथ साफ किया गया। इसमें सरकारी कर्मचारियों के अलावा अधिकारियों, पुलिस-पीएसी और एनडीआरएफ के जवानों, नागरिक सुरक्षा के स्वयंसेवकों ने मिलकर गंगा के दोनों किनारों से कचरा साफ किया, जो 30 टन था।

किन्‍नर समाज ने भी किया सहयोग   

सुबह सात बजे से रात आठ बजे तक चले अभियान में समाज के सभी लोगों ने हिस्सा लिया। इस विशेष सफाई अभियान में किन्नर समाज के लोग भी सक्रिय रहे। नगर निगम के सफाईकर्मियों की मदद से सभी घाटों से कचरा नाव में रखकर खिड़कियाघाट लाया गया, जहां से इस कूड़े को करसडा प्लांट भेजा गया।

मंडल कमिश्नर और जिलाधिकारी ने की अगुवाई

कमिश्नर दीपक अग्रवाल और डीएम कौशलराज शर्मा की मौजूदगी में चले अभियान में शामिल करीब 2500 लोगों ने गंगा से शराब-बीयर की बोतलें, इलेक्ट्रॉनिक, बायो मेडिकल और प्लास्टिक कचरा निकाला। इस मौके पर लोगों ने गंगा सफाई में साथ देने का भरोसा दिया। वहीं, इस अभियान की ड्रोन से भी निगरानी की गई। डीएम ने कहा कि, हर महीने के किसी एक रविवार को इसी तरह सफाई का महाअभियान चलेगा।

नीमा रेडक्रॉस ग्रुप ने लिया हिस्सा

इस सफाई अभियान में नीमा रेडक्रॉस ग्रुप के 50 सदस्यों ने दशाश्वमेध घाट पर सीढ़ियों, घाट एवं पानी में फेंके फूलमाला एवं कचरा बीना। इसमें डॉ. सुनील मिश्रा, डॉ. ओपी सिंह के अलावा बड़ी संख्या में डॉक्टर्स मौजूद रहे। वहीं, संकठा घाट पर सिविल डिफेंस के 300 से ज्यादा स्वयंसेवकों ने श्रमदान किया। इसमें उप नियंत्रक नीरज मिश्रा के अलावा संजय कुमार राय, सहायक उप नियंत्रक योगेश श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

आइएमए के अलावा रोटेरियनों ने की सफाई

हनुमान घाट पर आइएमए के मेंबर्स ने गंगा से कचरा निकालने के अलावा लोगों को गाइड भी किया। सचिव डॉ. राजेश्वर नारायण सिंह, डॉ. राकेश कुमार पटेल, डॉ. अतुल कुमार सिंह आदि ने श्रमदान किया। वहीं, रोटरी क्लब वाराणसी सेंट्रल, रोटरी गंगा समेत अन्य शाखाओं के लोगों ने गंगा जी की सफाई में योगदान दिया और लोगों से गंगा में कचरा न फेंकने की अपील की।

इस अवसर पर रेडक्रॉस के 150 सदस्यों के अलावा चार्टर्ड एकाउंटेंट्स ने भी गंगा से बड़ी संख्या में प्लास्टिक का कचरा निकाला। गौरतलब है कि वाराणसी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संसदीय क्षेत्र है। पीएम मोदी की अगुवाई में कई बार गंगा के घाटों का सफाई अभियान चल चुका है। वहीं, नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत गंगा जी को निर्मल करने का काम भी तेजी से चल रहा है।

जौनपुर: 11 वर्षीय मासूम से दरिंदगी के बाद हत्‍या करने वाले आरोपी को सज़ा-ए-मौत

Previous article

मध्यप्रदेश में एक दिन की गृहमंत्री बनी महिला सिपाही, महिला दिवस पर नरोत्तम मिश्रा ने दिया तोहफा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured