नियमों का पालन कराने को सिंघम बने दारोगा का खुद कटा चालान, जानिए मामला

वाराणसी: उत्‍तर प्रदेश के वाराणसी जिले में प्रशासन के नियमों व कोविड प्रोटोकॉल का पालन कराने के लिए सिंघम बने दारोगा का ही चालान काट दिया गया है।

जिले में एक दारोगा पर बिना मास्क घूमने और लोगों को डंडे मारकर खदेड़ने पर कार्रवाई हुई है। गंगा घाट पर कुछ लोगों ने दारोगा की बिना मास्‍क व लोगों को डंडे मारने वाली तस्‍वीर वायरल कर दी। इस पर प्रशासनिक अधिकारियों ने तत्काल संज्ञान लिया और दारोगा का ही चालान काट दिया।

डीएम के आदेश का पालन कराने पहुंचे थे दारोगा

दरअसल, काशी में डीएम कौशल राज शर्मा ने कोविड संक्रमण के मद्देनजर शाम चार बजे के बाद अगली सुबह छह बजे तक आम लोगों के घाट पर टहलने पर रोक लगाई है। सोमवार शाम चार बजे तुलसी घाट के अस्सी चौकी पर तैनात दारोगा गौरव उपाध्याय डीएम के इसी आदेश का पालन कराने पहुंच गए।

दारोगा जी पर लोगों को प्रशासन और कोरोना के प्रोटोकाल का पालन कराने की जिम्मेदारी थी, लेकिन उनसे खुद ही प्रोटोकाल के पालन में चूक हुई। वह बिना मास्‍क के घाट पर घूमते दिखे और लोगों को पाइप से मारकर खदेड़ते हुए भी नजर आए।

पुलिस कमिश्‍नरेट को ट्वीट कर दी गईं फोटो

काशी में रीवा घाट के पास जो टहलते नजर आया, दारोगा गौरव उपाध्‍याय उसे पाइप से पीटने लगे। इस दौरान उनकी पिस्टल भी फिल्‍मी स्‍टाइल में होल्स्टर (लेदर केस) की जगह उनकी कमर में लगी दिखाई दी। घाट पर मौजूद कुछ लोगों को दारोगा जी का यह रूप पसंद नहीं आया तो उन्‍होंने उनकी तस्वीरें लेकर पुलिस कमिश्नरेट को ट्वीट कर दीं।

 

भेलूपुर इंस्‍पेक्‍टर ने काटा चालान

दारोगा गौरव उपाध्‍याय की की ऐसी तस्वीरें ट्वीट होते ही पुलिस महकमा एक्शन में आ गया और उनपर कार्रवाई कर दी। एक ट्विटर यूजर के ट्वीट का जवाब देते हुए पुलिस कमिश्नरेट वाराणसी की तरफ से जानकारी दी गई कि भेलूपुर इंस्पेक्टर द्वारा उप निरीक्षक का सार्वजनिक स्थान पर मास्क ना पहनने के कारण चालान कर दिया गया है।

UP: पर्व के मद्देनजर मुख्‍यमंत्री की धर्मगुरुओं के साथ बैठक, की ये बड़ी अपील

Previous article

यूपी में कोरोना का स्‍तर बेहद खतरनाक, सीएम योगी खुद हुए आइसोलेट

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured