featured यूपी

अद्भुत: अब ऑनलाइन क्‍लास में नहीं चलेगी मनमानी, टीचर्स को मिलेगी हर जानकारी

अद्भुत: अब ऑनलाइन क्‍लास में नहीं चलेगी मनमानी, टीचर्स को मिलेगी हर जानकारी  

 

लखनऊ: कोरोना काल में ऑनलाइन क्‍लासेज एजुकेशन के क्षेत्र में डिजिटल क्रांति के रूप में उभरता जा रहा है। ज्‍यादातर यूनिवर्सिटी, कॉलेज और स्‍कूलों में स्‍टूडेंट्स को ऑनलाइन क्‍लासेज के जरिए पढ़ाया जा रहा है। हालांकि, कई बार ऐसी शिकायतें भी मिलती हैं कि बच्‍चा ऑनलाइन क्‍लासेज अटैंड करने के बाद गेम्‍स या कोई दूसरा काम कर रहा है। इसी समस्‍या का हल ढूंढ निकाला है एक 12वीं कक्षा के छात्र ने।

वाराणसी के आर्यन इंटरनेशनल स्‍कूल के 12वीं साइंस कक्षा के छात्र तुषार गुप्‍ता ने एक ऐसी स्‍मार्ट चेयर (कुर्सी) टेबल बनाई है, जिस पर बैठकर स्‍टूडेंट ठीक उसी तरह से पढ़ाई करेगा, जैसे वह क्‍लास में बैठकर करता है। छात्र तुषार से बातचीत करते हुए भारत खबर के संवाददाता शैलेंद्र सिंह ने इस स्‍मार्ट चेयर टेबल के बारे में जानकारी हासिल की।

छात्र ने बताया स्‍मार्ट चेयर-टेबल

छात्र तुषार ने बातचीत करते हुए बताया कि, कोरोना काल में हम ऑनलाइन क्‍लासेज के जरिए पढ़ाई कर रहे थे। ऐसे में मेरे मन में ख्‍याल आया कि ऑनलाइन क्‍लासेज के दौरान लापरवाही की बहुत सी घटनाएं सामने आती हैं तो इसके लिए कोई उपाय सोचा जाए। साथ ही मैंने इस दौरान यह भी महसूस किया कि कई सारे ऐसे स्‍टूडेंट्स होंगे, जिनके पास अच्‍छा स्‍मार्टफोन या लैपटॉप नहीं होगा और उन्‍हें पढ़ाई में परेशानी होती होगी। इन्‍हीं बातों को ध्‍यान में रखते हुए मैंने स्‍मार्ट चेयर व टेबल (स्‍मार्ट ऑनलाइन रोबो चेयर टेबल) प्रोटोटाइप बनाया है।

अद्भुत: अब ऑनलाइन क्‍लास में नहीं चलेगी मनमानी, टीचर्स को मिलेगी हर जानकारी  
स्‍मार्ट चेयर व टेबल बनाता छात्र तुषार

बकौल तुषार गुप्‍ता यह स्‍मार्ट चेयर ऑनलाइन क्‍लास में लापरवाही करने वाले बच्‍चों की पहचान करेगा। ऑनलाइन क्‍लास में बहुत से ऐसे बच्‍चे होते हैं, जो ठीक से क्‍लास अटैंड नहीं करते और पढ़ाई के दौरान अपने टीचर की बात ध्‍यान से नहीं सुनते हैं तो यह स्‍मार्ट चेयर ऐसे बच्‍चों को डिसीप्लिन में रखेगा।

स्‍मार्ट चेयर व टेबल की खासियत

छात्र तुषार ने बताया कि, मैंने चेयर व टेबल पर इंटरनेट से संचालित होने वाला सिस्‍टम लगाया है और टेबल पर एक 14 इंच की एलसीडी डिस्‍प्‍ले लगाई है। इसको स्‍टूडेंट्स अपने मोबाइल से कनेक्‍ट कर सकते हैं, जिससे उन्‍हें बड़ी स्‍क्रीन पर मैटर दिखाई देगा और उन्‍हें पढ़ने, समझने में आसानी होगी। साथ ही इसमें एक कैमरा भी लगा है, जिससे टीचर्स बच्‍चों पर ऑनलाइन नजर रख सकेंगे। इसके अलावा स्‍मार्ट चेयर में एक चैनल गेट भी लगाया है, जिसका कमांड टीचर्स के हाथ में होगा।

कैसे करेगा काम

तुषार ने बताया कि, जब स्‍टूडेंट इस चेयर पर बैठेगा तो यह सिस्‍टम एक्टिव हो जाएगा और टीचर्स के मोबाइल फोन पर इसका नोटिफिकेशन चला जाएगा। इसी के साथ स्‍मार्ट चेयर का गेट लॉक हो जाएगा और फिर छात्र बिना टीचर की परमिशन लिए ऑनलाइल क्‍लास छोड़कर नहीं जा सकता। ऑनलाइन क्‍लास खत्‍म होने के बाद स्‍मार्ट चेयर का गेट अपने आप अनलॉक हो जाएगा यानी खुल जाएगा। इससे पहले अगर छात्र को स्‍मार्ट चेयर से उठना है या वॉशरूम जाना है तो उन्‍हें टीचर से परमिशन लेनी होगी। अगर छात्र बिना परमिशन उठने की कोशिश करते हैं या उठते हैं तो टीचर को मोबाइल पर नोटिफिकेशन के जरिए पूरी जानकारी मिल जाएगी, जिससे टीचर्स को बच्‍चों को लापरवाही करने से रोकने में मदद मिलेगी।

अद्भुत: अब ऑनलाइन क्‍लास में नहीं चलेगी मनमानी, टीचर्स को मिलेगी हर जानकारी  
स्‍मार्ट चेयर व टेबल
इसे बनाने में खर्च

इसे बनाने में समय और खर्च के बारे में छात्र तुषार ने बताया कि, इस स्‍मार्ट चेयर व टेबल को बाने में करीब एक महीने का वक्‍त लगा और करीब 8-10 हजार रुपए का खर्च आया है। तुषार ने बताया कि, स्‍मार्ट चेयर व टेबल को बनाने में घर व स्‍कूल में पड़े कबाड़ के सामानों का इस्‍तेमाल किया गया है। स्‍कूल की चेयर व टेबल, 14 इंच एलसीडी स्‍क्रीन, दो मेगा पिक्‍सल वाईफाई कैमरा, पांच आरपीएम गियर मोटर, स्विच, टच सेंसर, बैटरी व अन्‍य इलेक्ट्रिक सामानों का प्रयोग किया गया है।

मार्केट में उतारने की तैयारी

वहीं, आर्यन इंटरनेशनल स्‍कूल के चेयरमैन विनीत चोपड़ा ने बातचीत में छात्र तुषार के आविष्‍कार पर खुशी जाहिर की है। उन्‍होंने कहा कि, हमारे स्‍कूल में एपीजे अब्‍दुल कलाम स्‍टार्टअप लैब है, जहां बच्‍चे विज्ञान के क्षेत्र में देश को और विकासशील बनाने के लिए नए-नए आविष्‍कार करते रहते हैं। अभी छात्र तुषार स्‍मार्ट चेयर व टेबल बनाई है, जो ऑनलाइन एजुकेशन में क्षेत्र में काफी कारगर साबित होगा। छात्र ने अभी प्रोटोटाइप बनाया है और इस पर अभी और भी काम किया जाएगा, जिसके बाद इसे मार्केट में भी उतारा जाएगा जिससे सभी को इसका लाभ मिल सके।

Related posts

सर्जिकल स्ट्राइक के लिए उकसा रहा है पाक, चीन से ध्यान हटाने का प्रयास ?

Rani Naqvi

दूसरे दिन कानपुर पुलिस ने कुछ इसअंदाज में मनाई होली

Anuradha Singh

लखनऊ से उत्तराखंड के बीच चलेगी 16 नई बसें, देखें समय सारणी

Shailendra Singh