Capture 3 UP: डेढ़ महीने के लिए बंद हो रही वंदे भारत एक्सप्रेस, इसकी जगह चलेगी तेजस एक्सप्रेस

देश धीरे धीरे आत्मनिर्भरता की ओर बढ़ रहा है। इसी क्रम में बनी पहली सेमी हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस से जुड़ी नई अपडेट आई है। इस ट्रेन को 16 फरवरी से डेढ़ महीने के लिए बंद किया जा रहा है। दरअसल, वंदे भारत एक्सप्रेस के कोच के मेंटिनेंस का कार्य होना है, जोकि रेलवे द्वारा किया जाएगा। वहीं, इसकी जगह पर तेजस एक्सप्रेस को उसी रुट पर चलाया जाएगा। बता दें आगामी 16 फरवरी से रेलवे द्वारा वंदे भारत के रिजर्वेशन पर भी रोक लगा दी जाएगी।

2 साल बाद होगा ट्रेन का मेंटिनेंस

आपको बता दें कि साल 2019 में कुंभ मेले के दौरान फरवरी के महीने में ही पहली बार वंदे भारत एक्सप्रेस का संचालन शुरू हुआ था। लगभग 2 साल के दौरान यह ऐसा पहला मौका होगा जब वंदे भारत के कोच मेंटिनेंस के लिए भेजे जा रहे हैं। वर्तमान समय में यह देश की एकमात्र ऐसी ट्रेन है, जिसकी औसत गति सौ किलोमीटर प्रतिघंटा से ज्यादा की है। बताया जा रहा है कि मेंटिनेंस के साथ ही इस ट्रेन का ट्रायल वाराणसी के हाईस्पीड ट्रैक पर किया जाएगा। इस दौरान दिल्ली-कानपुर-प्रयागराज-वाराणसी रूट पर चलने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस के नाम में भी परिवर्तन होगा। फिर इसे तेजस बनाकर चलाये जानी की तैयारी है।

वंदे भारत एक्सप्रेस

प्रयागराज और वाराणसी में पहुंचेंगे तेजस के कोच

16 फरवरी से एक हफ्ते में 5 दिन तेजस एक्सप्रेस का शुभारंभ होगा। यह पहली बार होगा जब प्रयागराज और वाराणसी में इसके कोच पहुंचेंगे। खबरों के अनुसार इस अवधि में ट्रेन की बुकिंग सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट के माध्यम से ही होगी। अधिक जानकारी देते हुए उत्तर मध्य रेलवे के सीपीआरओ अजीत कुमार सिंह ने बताया कि अभी 45 दिनों के लिए वंदे भारत के स्थान पर तेजस ट्रेन के कोच को इस्तेमाल में लाया जायेगा

उधर, प्रयागराज मंडल के सीनियर डीसीएम अंशु पांडेय ने बताया कि वंदे भारत एक्सप्रेस में 16 फरवरी से फिलहाल बुकिंग बंद कर दी गई है। इसमें अब तेजस के कोच लगाए जाने की चर्चा है। उत्तर रेलवे द्वारा नोटिफिकेशन जारी करने के बाद ही 9 या 10 फरवरी से इसमें एक बार फिर से बुकिंग शुरू हो जाएगी।

उत्तराखंड आपदा: यूपी के लखीमपुर जिले के दो भाइयों समेत 26 लोग लापता, परिवारों में मचा कोहराम

Previous article

अयोध्या: धन्नीपुर मस्जिद मालिकाना हक मामले की याचिका खारिज

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.