September 22, 2021 10:44 pm
#Meerut featured यूपी

मेरठ में वैलेंटाइन कैंसर अस्पताल ने मुस्लिम मरीजों का इलाज न करने का विज्ञापन जारी किया, यूपी पुलिस जांच में जुटी

meerut मेरठ में वैलेंटाइन कैंसर अस्पताल ने मुस्लिम मरीजों का इलाज न करने का विज्ञापन जारी किया, यूपी पुलिस जांच में जुटी

मेरठ। उत्तर प्रदेश के मेरठ में वैलेंटाइन कैंसर अस्पताल ने हाल ही में एक स्थानीय दैनिक  अखबार में एक विज्ञापन जारी किया, जिसमें कहा गया है कि अब यह COVID-19 महामारी के मद्देनजर मुस्लिम बहुल इलाकों के मुस्लिम रोगियों को स्वीकार नहीं करेगा। विज्ञापन को यूपी पुलिस के संज्ञान में लाने के बाद मामले की जांच शुरू की गई।

बता दें कि ये अस्पताल कैंसर रोगियों के इलाज के लिए एक चिकित्सा सुविधा है, और मुसलमानों को इलाज से बाहर करने का उसका निर्णय पश्चिमी यूपी में रहने वाले अल्पसंख्यकों के लिए हानिकारक होगा। इसके अलावा, धर्म के आधार पर मरीजों का बहिष्कार संविधान का उल्लंघन है और इससे अस्पताल के अधिकारियों पर जुर्माना लगाया जा सकता है।

मामला सामने आने के बाद, मेरठ पुलिस ने इंचार्ज पुलिस स्टेशन को आदेश दिया, कि जिसके अधिकार क्षेत्र में अस्पताल आता है, वो इसकी जांच शुरू करें। अपने विज्ञापन में, वैलेंटाइन अस्पताल ने पिछले महीने दिल्ली के निजामुद्दीन इलाके में आयोजित तब्लीगी जमात कार्यक्रम का उल्लेख किया, जबकि मुस्लिम समुदाय के बहिष्कार की घोषणा की। विज्ञापन में कहा गया है कि जो मुसलमान कैंसर संस्थान में इलाज कराना चाहते हैं उन्हें एक प्रमाणपत्र साथ लाना चाहिए जो उन्हें COVID-19 नकारात्मक घोषित करता है।

करीब 35 हजार छात्रों की घर वापसी पर नीतीश कुमार,सीएम योगी और अशोक गहलोत के बीच आई कड़वाहट

वहीं चिकित्सा आपातकाल के मामले में, चिकित्सा सहायता एक शर्त पर उपलब्ध कराई जाएगी यदि “रोगी और देखभालकर्ता 4500 / – रुपये का भुगतान करने के बाद कोरोना संक्रमण परीक्षण से गुजरते हैं”।

अस्पताल के प्रशासक ने यह भी आरोप लगाया कि “अस्पताल में कई मुस्लिम मरीज हमारे कर्मचारियों के साथ सह-संचालन और दुर्व्यवहार नहीं कर रहे हैं” तबलीगी जमात के सदस्यों को कथित घटनाओं के लिए जिम्मेदार ठहराया। विज्ञापन में आगे कहा गया है कि गैर-मुस्लिम क्षेत्रों में रहने वाले वकीलों, डॉक्टरों और पुलिस अधिकारियों सहित मुस्लिम पेशेवरों को इलाज का लाभ उठाने से नहीं रोका जाएगा। यह विज्ञापन समृद्ध हिंदू और जैन परिवारों से PM-CARES फंड में अधिकयोगदान के लिए कहता है।

Related posts

संघ की पृष्‍ठभूमि वाले बीएल वर्मा केंद्र में मंत्री, जानें इनका राजनीतिक सफर

Shailendra Singh

सिम कार्ड खरीदने वालों के लिए खुशखबरी, बिना आधार कार्ड के खरीद सकते हैं सिम

Rani Naqvi

नोटबंदी को लेकर भाजपा पर बरसे सुरजेवाला, ‘भाजपा दफ्तर में पहुंचे करोडों’

Rahul srivastava