featured देश यूपी

सांसद वरुण गांधी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से हटाया ‘बीजेपी’ शब्द,  सुबह लखीमपुर हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री योगी को भेजा था पत्र

QQQQ सांसद वरुण गांधी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से हटाया ‘बीजेपी’ शब्द,  सुबह लखीमपुर हिंसा को लेकर मुख्यमंत्री योगी को भेजा था पत्र

उत्तर प्रदेश से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से बीजेपी शब्द हटा दिया है। जिसके बाद से ही इसके कई राजनीतिक मायने निकलने शुरू हो गए हैं। वरुण गांधी ने सोमवार सुबह ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लखीमपुर खीरी मामले को लेकर पत्र लिखा था।

सांसद वरुण गांधी ने अपने ट्वीटर अकाउंट से हटाया ‘बीजेपी’ शब्द

उत्तर प्रदेश की पीलीभीत से बीजेपी सांसद वरुण गांधी ने अपने ट्वीटर अअकाउंट से ‘बीजेपी’ शब्द हटा दिया है। जिसके बाद से ही इसके कई राजनीतिक मायने निकलने शुरू हो गए हैं। वरुण गांधी ने सोमवार सुबह ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को लखीमपुर खीरी मामले को लेकर पत्र लिखा था। इस पत्र में उन्होंने पूरे मामले में सीबीआई जांच की मांग की थी। उन्होंने पत्र में लिखा कि लखीमपुर खीरी में विरोध प्रदर्शन कर रहे किसानों को निर्दयतापूर्वक कुचलने की जो हृदय विदारक घटना हुई है, उससे सारे देश के नागरिकों में एक पीड़ा और रोष है। इसके साथ ही वरुण गांधी ने मामले में संलिप्त तमाम संदिग्धों के खिलाफ आईपीसी की धारा 302 के तहत हत्या का मुकदमा दर्ज कर सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी।

सीएम को पत्र लिखकर जताई थी नाराजगी

ट्विटर अकाउंट से बीजेपी शब्दी हटाने के पीछे का कारण वरुण गांधी के पत्र से साफ समझा जा सकता है। वरुण गांधी ने अपने पत्र में लिखा कि लखीमपुर घटना से एक दिन पहले ही देश ने अंहिसा के पुजारी महात्मा गांधी जी की जयंती मनाई थी। अगले ही दिन लखीमपुर खीरी में हमारे अन्नदाताओं की जिस घटनाक्रम में हत्या की गई वह किसी भी सभ्य समाज में अक्षम्य हैं।

पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये देने की मांग की थी

उन्होंने आगे लिखा था कि अगर कुछ मुद्दों को लेकर किसान भाई पीड़ित हैं और अपने लोकतांत्रिक अधिकारों के तहत विरोध प्रर्दशन कर रहें हैं तो हमें उनके साथ बड़े ही संयम एवं धैर्य के साथ बर्ताव करना चाहिए। इसके अलावा वरुण गांधी ने पीड़ित परिवारों को एक-एक करोड़ रुपये का मुआवजा देने की भी मांग की थी। उन्होंने लिखा था कृपया यह भी सुनिश्चित करने का कष्ट करें कि भविष्य में किसानों के साथ इस प्रकार का कोई भी अन्याय या अन्य ज्यादती ना हो। आपको बता दें कि इससे पहले भी वरुण गांधी योगी सरकार की ओर से गन्ने के रेट 350 रुपये प्रति क्विंटल किए जाने पर उसे 400 रुपये प्रति क्विंटल करने की मांग की थी।

Related posts

चारा घोटाला मामले में लालू यादव ने किया सीबीआई के सामने सरेंडर,

mahesh yadav

जेडीयू अधिवेशन में बोले सीएम नीतीश, ‘कभी नहीं देखी ऐसी बाढ़’

Pradeep sharma

सलमान खान की ‘राधे’ फिल्म सिनेमाघरों में होगी रीलीज, जानें कब मचाएगी धमाल

Aman Sharma