featured यूपी

मेरठ: डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट, जानिए, कैसे होता है स्क्रब टाइफस, सीएमओ ने क्या कहा?

MOSQUITO 1568917391 1568917391 मेरठ: डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट, जानिए, कैसे होता है स्क्रब टाइफस, सीएमओ ने क्या कहा?

मेरठ में डेंगू के साथ-साथ स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से स्क्रब टाइफ को लेकर अलर्ट पर है। लोगों को भी स्वास्थ्य विभाग की ओर से सख्त हिदायत दी जा रही है।

डेंगू के साथ स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट

मेरठ में डेंगू के साथ-साथ स्क्रब टाइफस को लेकर अलर्ट जारी किया गया है। स्वास्थ्य विभाग पूरी तरह से स्क्रब टाइफ को लेकर अलर्ट पर है। लोगों को भी स्वास्थ्य विभाग की ओर से सख्त हिदायत दी जा रही है। फिरोजाबाद, मथुरा, आगरा में बढ़ते डेंगू बुखार के मामलों के बाद मेरठ में अलर्ट जारी हो गया है।

चूहे और गिलहरी के ज़रिए होता है स्क्रब टाइफस

चूहे और गिलहरी के ज़रिए स्क्रब टाइफस होता है। मेरठ के सीएमओ डॉक्टर अखिलेश मोहन ने बताया कि मेरठ में स्क्रब टाइफस का एक भी केस नहीं है। उन्होंने कहा कि घरों के अंदर साफ सफाई ऱखना बेहद जरूरी है। सीएमओ डॉ. अखिलेश मोहन ने कहा कि टीमें घरों में जाकर बुखार, डेंगू, टीबी के मरीजों का डाटा जमा करेंगी। मच्छरों से बचने के उपाय बताएंगी। घर और आसपास पानी जमा न होनें दे। पूरी बाजू के कपड़े पहनने, नीम पत्ती का धुंआ करने, शरीर ढंककर रखने, बुखार पर डॉक्टर की सलाह लेकर दवा खाने की सलाह दे रही है।

अब तक डेंगू के 20 मरीज़ चिन्हित

वहीं मेरठ के डीएम के बालाजी ने कहा कि लोग कूलर में पानी न भरें इसे लेकर स्वास्थ्य विभाग से चर्चा करेंगे। अगर अऩुपालन की आवश्यकता हुई तो ज़रुर करेंगे। मेरठ में डेंगू के मरीजों का आंकड़ा बढ़ रहा है। अब तक डेंगू के 20 मरीज़ चिन्हित हो चुके हैं। जिलाधिकारी के बालाजी ने चूहों की रोकथाम के लिए झाडियों को काटने का आदेश दिया है। स्वास्थ्य विभाग को घर-घर जाकर बुखार के मरीजों की जांच का आदेश दिया है।

‘लोगों को स्क्रब टाइफस से बचने के तरीके बताएं’

वहीं डीएम ने कंटेनमेंट जोन बनाकर फॉगिंग करवाने को कहा है। डीएम ने कहा स्क्रब टाइफस को रोकने के घरों में मरीजों के सैंपल लेकर जांच के लिए लैब भेजा जाए। साथ ही टीम लोगों को डेंगू, बुखार, स्क्रब टाइफस से बचने के तरीके भी बताए। जहां डेंगू मरीज मिलेंगे उस इलाके को कंटेनमेंट जोन बनाया जाएगा। वहां एंटीलार्वा छिड़काव किया जाए। हर 50 घरों में पाईरिथ्रम का छिड़काव करें। मच्छरों के एक्टिव सोर्स को खत्म करें।

Related posts

भारत में पैर पसार रहा कोरोना का नया स्ट्रेन, 14 और लोगों में मिले लक्षण

Shagun Kochhar

15 हजार सुविधा शुल्क न देने पर आंगनवाड़ी सहायिका के काम पर रोक, नही मिल रहा वेतन

Rani Naqvi

Breaking News