उत्तराखंड: एमडीडीए के उपाध्यक्ष ने किया आवासीय योजना का शुभारंभ

देहरादून। मसूरी देहरादून विकास प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने अपने कार्यलय में 20 जनवरी को प्राधिकरण की आवासीय योजना ट्रांसपोर्ट नगर फेज-2 और सहस्त्रधारा रोड़ अालयम का उद्धघाटन किया। इस दौरान प्राधिकरण ने मध्यक्ष आय वर्ग के आम जन को सस्ते और अच्छी गुणवत्ता वाले आवास उपलब्ध कराने के लिए ट्रांसपोर्ट नगर में 144 और आमवाला तरला में 80 एलआईजी भवनों के निर्माण कार्य की जानकारी दी। साथ ही आमवाला तरला में प्राधिकरण की आवासीय योजना 3 बीएचके और 2 बीएचके और स्टूडियो अपार्टमेंट का भी शुभारंभ किया गया।

इस योजना के तहत पंजिकरण फार्म बैंक आॅफ बडोदा, ओरियंटल बैंक आॅफ कामर्स और एक्सेस बैंक के उत्तराखण्ड स्थिति अलग-अलग शाखाओं में और प्राधिकरण कार्यालय में उपलब्ध हैं। प्राधिकरण कार्यालय में फार्म की फीस POS मशीन के माध्यम से शुल्क जमा कराते हुए भी प्राप्त किया जा सकता है। साथ ही फार्म को प्राधिकरण की बेव साईट mddaonline.in से भी निःशुल्क डाउनलोड किये जा सकते हैं। डाउनलोड फार्म को रजिस्ट्रेशन हेतु जमा करते समय फार्म का शुल्क भी जमा करना होगा। एलआईजी परियोजना हेतु पंजीकरण धनराशि  2 लाख एवं 2.3 लाख रुपये रखी गई है।इसके अलावा एलआईजी फेज-2 के भवन तैयार हैं और बाकी के भवनों में काम चल रहा है। 

बता दें कि सरकार ने भवन योजना को जातिया आधार पर बाटा है। इसके तहत अनुसूचित जाति को 19 प्रतिशत, अनुसूचित जनजाति को 0.4 प्रतिशत, ओबीसी के लिए 14 प्रतिशत, सांसद,विधायक और स्वतंत्रता संग्राम सेनामी के लिए पांच प्रतिशत राज्य सरकार द्वारा कार्मिक कर्माचारियों के लिए 6 प्रतिशत, मान्यता प्राप्त पत्रकारों के लिए 2 प्रतिशत रखा गया है। आपको बता दें कि कार्यक्रम का संचालन प्राधिकरण के सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर संजीवन चन्द सूंठा, द्वारा किया गया।

कार्यक्रम में प्राधिकरण सचिव पीसी दुम्का ने योजना की संक्षिप्त जानकारी उपलब्ध कराई और इसके बाद प्राधिकरण के उपाध्यक्ष डा आशीष कुमार श्रीवास्तव ने प्राधिकरण की अलग-अलग परियोजनाओं और भविष्य की परियोजनाओं व प्रधानमंत्री आवासीय योजना के अन्तर्गत प्राधिकरण द्वारा किये जा रहें प्रयासों की जानकारी मिडिया के सामने रखी। इसके अलावा परियोजनाओं के रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया का शुभारम्भ इन योजनाओं के ब्रोशरस का अनावरण करते हुए किया गया। वहीं समारोह में अधीक्षण अभियन्ता अनिल त्यागी, संजीव जैन, अधिशासी अभियन्ता एच एस राणा अनुसचिव अनुजा सिंह और प्राधिरकण के अन्य कर्मचारी, सहयोगी बैंकों के अधिकारी मौजूद रहे।