January 28, 2023 2:31 am
featured उत्तराखंड

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षाएं अब होंगी ऑनलाइन, कंप्यूटर पर हल करना होगा प्रश्नपत्र

उत्तराखंड 4 उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षाएं अब होंगी ऑनलाइन, कंप्यूटर पर हल करना होगा प्रश्नपत्र

देहरादून। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की परीक्षाएं अब ऑनलाइन होंगी। परीक्षार्थियों को प्रश्नपत्र कंप्यूटर पर हल करना होगा। उनके सामने प्रश्नपत्र भी ऑनलाइन ही खुलेगा। उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग की विभिन्न परीक्षाओं में हर साल तीन लाख से अधिक युवा शामिल होते हैं। इस बार सिर्फ फॉरेस्ट गार्ड की भर्ती के लिए ही विभाग को करीब 1.56 लाख आवेदन मिल चुके हैं। इस कारण आयोग को भर्ती के लिए व्यापक इंतजाम करने पड़ रहे हैं। चूंकि प्रश्नपत्रों और उत्तर पुस्तिका की सुरक्षा के रूप में आयोग के सामने बड़ी चुनौती होती है इसलिए इस बार उसने परीक्षा ऑनलाइन कराने का निर्णय लिया है। 

बता दें कि इसके लिए आयोग ने विभिन्न इंजीनियरिंग और पॉलिटेक्निक कॉलेजों में उपलब्ध कंप्यूटर और इंटरनेट जैसी सुविधाओं का डाटा जुटा लिया है। अब इन कॉलेजों को ऑनलाइन परीक्षा केंद्र बनाया जाएगा। आयोग ने परीक्षा कराने के लिए एजेंसी चयन का काम भी शुरू कर दिया है। आयोग का प्रयास है कि शुरुआत में कम आवेदन वाली परीक्षाओं से इसका ट्रायल किया जाए और सफलता मिलने पर इस प्रयोग को आगे बढ़ाया जाए।  बड़ी परीक्षाएं होती हैं ऑनलाइन : देश की इंजीनियरिंग, मेडिकल जैसी बड़ी परीक्षाएं पहले ही ऑनलाइन तरीके से हो रही हैं। इससे सबसे बड़ी सुविधा प्रश्नपत्र लीक या नकल जैसी घटनाओं को रोकने में सफलता के रूप में सामने आई है। 

वहीं साथ ही परीक्षा परिणाम भी जल्द जारी करने में मदद मिलती है। ऑनलाइन परीक्षा सामान्य तौर पर एक दिन के बजाय कई दिनों में आयोजित होती है। इसमें प्रश्न हर बार बदले जाते हैं। उत्तराखंड में आयोग ने अभी करीब पांच हजार कंप्यूटर ही उपलब्ध होने का आंकड़ा जुटाया है, इस कारण यहां भी बड़ी परीक्षाएं एक से अधिक दिन में आयोजित की जाएंगी। ऑनलाइन परीक्षा के लिए एजेंसी चयन का काम अंतिम चरण में पहुंच गया है। हम अगले छह महीने में ऑनलाइन परीक्षा कराने की स्थिति में होंगे। इसके लिए पहले युवाओं को प्रशिक्षण भी दिया जाएगा। इससे परीक्षा परिणाम शीघ्रता से प्राप्त हो सकेंगे। देश की कई अहम परीक्षाएं अब ऑनलाइन ही होती हैं, इसमें समय और संसाधन दोनों की बचत होती है।

Related posts

राहुल बोले : किसानों को भूल, अपना कर्ज उतार रहे पीएम मोदी

shipra saxena

एक भाई ने किया रेप दूसरे ने की जान से मारने की कोशिश, पति ने दिया तलाक, देवर से हलाला करने का दवाब

Rani Naqvi

उत्तर प्रदेश के मंत्रियों के लिए नया आदेश, कैबिनेट में जाने से पहले उन्हे करना होगा यह विशेष काम

bharatkhabar