featured उत्तराखंड

उत्तराखंड: निशंक सीएम की रेस में सबसे आगे, पार्टी की पहली पसंद

121365 उत्तराखंड: निशंक सीएम की रेस में सबसे आगे, पार्टी की पहली पसंद

देहरादून: उत्तराखंड की राजनीति में त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे के बाद सियासी पारा आसमान पर पहुंच गया है। ऐसे में प्रदेश में नए सीएम की जिम्मेदारी किसको मिलेगी, इस बात पर अटकलें तेज हो गई हैं। नए सीएम की दौड़ में कई नाम सामने आ रहे हैं, जिसमें HRD मंत्रालय संभाल रहे रमेश पोखरियाल निशंक का नाम बहुत तेजी से सबसे पहले आ रहा है। कहा जा रहा है कि निशंक पर बीजेपी अपना दांव खेल सकती है और उत्तराखंड के नए सीएम की जिम्मेदारी संभालने का मौका दे सकती है।

जल्द उत्तराखंड में नए सीएम की होगी ताजपोशी

बता दें कि बीजेपी की तरफ से कहा गया है कि अगले 24 घंटे के अंदर उत्तराखंड के नए सीएम का नाम ऐलान कर दिया जाएगा। उत्तराखंड के नए सीएम की दौड़ में राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी, नैनीताल से लोकसभा सांसद अजय भट्ट और धन सिंह रावत का नाम भी आगे चल रहा है। कहा जा रहा है कि पार्टी इन तीनों नामों में भी विचार कर सकती है।

पहाड़ की संवेदनाओं से खेल

यहां त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस्तीफे के पीछे कई वजह सामने आ रही हैं। इनमें सबसे प्रमुख वजह गैरसैंण को मंडल बनाने का त्रिवेंद्र सिंह रावत का फैसला बताया जा रहा है। त्रिवेंद्र सिंह के इस फैसल से जनता में भारी नाराजगी थी। इस मसले पर पार्टी के कई नेताओं ने इसे पहाड़ी संवेदनाओं के साथ खिलवाड़ करना तक बता दिए थे।

दिल्ली दौरे के बाद हुआ इस्तीफा

बता दें कि त्रिवेंद्र सिंह रावत का इस्तीफा तब हुआ जब उनको बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व ने दिल्ली तलब किया। सीएम के दिल्ली दौरे के बाद से ही अटकलों की बाजारों से खबरें आने लगी की सीएम त्रिवेंद्र की कुर्सी किसी भी वक्त जा सकती है। उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की अटकलों के बीच त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार देर रात बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में उनके निवास पर मुलाकात की थी। हालांकि इन तमाम अटकलों में उस वक्त विराम लग गया जब आज त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राज्यपाल से मुलाकात कर अपना इस्तीफा सौंप दिया।
ये तीन नाम भी चर्चा में हैं

उत्तराखंड में बीजेपी की रिवायत बरकरार

बता दें कि उत्तराखंड की राजनीति की ये सालों से रिवायत रही है कि कोई भी बीजेपी का सीएम अपने पूरे कार्यकाल को पूरा कर नहीं सका। इसी क्रम में बात करें अगर साल 2000 की तो उत्तराखंड बनने के बाद बीजेपी ने 2 साल में 2 सीएम बनाए थे, जिसमें नित्यानंद स्वामी और भगत सिंह कोशियारी दोनों ने सरकार चलाई थी। वहीं साल 2002 में कांग्रेस जीती इसके बाद 2007 में फिर से बीजेपी को बहुमत मिला और बीजेपी ने सरकार बनाई। लेकिन बीजेपी को फिर 2007 से 2012 के बीच उत्तराखंड में 2 सीएम बदलने पड़े, जिसमें बीसी खंडूरी और रमेश पोखरियाल ‘निशंक’ ने सीएम पद की जिम्मेदारी संभाली। अब फिर से 2017 में बीजेपी की सरकार बनी और सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत बने, लेकिन इसबार भी सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत महज 4 साल ही बतौर सीएम पद पर रह पाए और अब सीएम त्रिवेंद्र ने सीएम पद से इस्तीफा दे दिया।

Related posts

प्रदेश के हर नागरिक को सुन रही है योगी सरकार, जनसुनवाई समाधान पोर्टल पर सुनी जा रहीं प्रदेशवासियों की समस्याएं

Rahul

बीजेपी विधायक पर लगा दुष्कर्म का आरोप, पीड़िता परिजन के साथ धरने पर बैठी

Rani Naqvi

सचिन ने साझा किए अपने पहले मैच के किस्से, कहा-मैच के दौरान आया था रोना

Breaking News