featured उत्तराखंड राज्य

उत्तराखंड : यशपाल आर्य और संजीव आर्य की घर वापसी पर कांग्रेस में उत्साह

२ उत्तराखंड : यशपाल आर्य और संजीव आर्य की घर वापसी पर कांग्रेस में उत्साह

ankit haldwani उत्तराखंड : यशपाल आर्य और संजीव आर्य की घर वापसी पर कांग्रेस में उत्साहअंकित साह (हल्द्वानी)

विधानसभा चुनाव के नज़दीकियों के साथ ही सभी पार्टियों में उठापटक शुरू हो चुकी है। उत्तराखंड विधानसभा चुनाव 2022 से पहले ही कांग्रेस ने भाजपा को बड़ा झटका देते हुए यशपाल आर्य और उनके बेटे संजीव आर्य कांग्रेस में घर वापसी कर दी है वही यशपाल आर्य और संजीव आर्य के कांग्रेस में लौटने से जहां कार्यकर्ताओं में खुशी की लहर है। कार्यकर्ता अब प्रदेश में कांग्रेस सरकार बनने की बात कर रहे हैं वहीं कांग्रेस नेता एवं पूर्व राज्यमंत्री ललित जोशी ने कहा कि यशपाल आर्य संजीव आलिया के आने से कांग्रेस में नया उत्साह देखने को मिलेगा आप पिछले चुनाव में यशपाल आर्य के भाजपा जाने से कांग्रेस को नुकसान का सामना करना पड़ा था।

२ उत्तराखंड : यशपाल आर्य और संजीव आर्य की घर वापसी पर कांग्रेस में उत्साह

वहीं अब यशपाल आर्य की कांग्रेस में दोबारा वापसी से कांग्रेस में 2022 विधानसभा में नया परचम लहराए की वही यशपाल आर्य और संजीव आर्य के कांग्रेस में वापसी से जहां कांग्रेस कार्यकर्ताओं में खुशी है तो वही कांग्रेस प्रदेश महिला मोर्चा के अध्यक्ष सरिता आर्या के तेवरों को देखते हुए कांग्रेस में हलचल सी पैदा हो गई है। वही दलित जोशी ने कहा कि अगर किसी के अंदर कोई मनमुटाव है। तो उसको दूर कर लिया जाएगा और आने वाले समय में कांग्रेस प्रदेश में सरकार बनाने जा रही है साथ ही मुख्यमंत्री चेहरे को लेकर कहा कि हरीश रावत ही मुख्यमंत्री का चेहरा है क्योंकि प्रदेश की जनता मुख्यमंत्री के चेहरे पर हरीश रावत को पसंद करती है ललित जोशी ने कहा स्वर्गीय पंडित नारायण दत्त तिवारी के बाद कोई वरिष्ठ नेता है और कोई पसंदीदा चेहरा है वह सिर्फ हरीश रावत है इसलिए प्रदेश की जनता हरीश रावत को ही पसंद करती है और प्रदेश की जनता ने अब मन बना लिया है। आने वाले विधानसभा चुनाव में उत्तराखंड में कांग्रेस की सरकार बनी तय है ।

Related posts

रुपए देने के बहाने युवती पर फेंका तेजाब

Pradeep sharma

रेलवे चलाएगा ऑक्सीजन एक्सप्रेस ट्रेन, ऑक्सीजन की सप्लाई होगी बेहतर

Saurabh

मंदसौर में डेंगू ने मचाया हाहाकार, 700 के करीब पहुंची मरीज़ों की संख्या

Rani Naqvi