उत्तराखण्ड जल विद्युत निगम बाजपुर, नादेही, किच्छा सहकारी चीनी मिलों के बगास से बिजली उत्पादन करेगा: उत्पल कुमार सिंह

देहरादून। उत्तराखण्ड जल विद्युत निगम बाजपुर, नादेही, किच्छा सहकारी चीनी मिलों के बगास(खोई) से बिजली उत्पादन करेगा। इसके बदले में निगम इन चीनी मिलों को बिजली, वाष्प, रॉयल्टी देगा। इतना ही नहीं, चीनी मिलों के आधुनिकरण का कार्य भी निगम करेगा। यह निर्णय मुख्य सचिव उत्पल कुमार सिंह की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में लिया गया।

बता दें कि बैठक में बताया गया कि यूजेवीएनएल बगास से ऊर्जा बनाने का कार्य बिल्ड, ऑपरेट एंड ओन के आधार पर करेगा। बाजपुर से 22 मेगावाट, नादेही और किच्छा से 16-16 मेगावाट बिजली का उत्पादन किया जाएगा। इसके लिए यूजेवीएनएल ने सर्वे का कार्य पूर्ण कर लिया है। बगास के अलावा दूसरे बायो मॉस का उपयोग भी ऊर्जा उत्पादन में करेगा।

वहीं भारत सरकार की योजना से डोईवाला चीनी मिल से एथनॉल का उत्पादन किया जाएगा। डिस्टिलरी और चीनी मिल एक साथ चलाये जाएंगे। बैठक में प्रमुख सचिव एमएसएमई मनीषा पंवार, सचिव ऊर्जा राधिका झा, सचिव गन्ना इंदुधर बौड़ाई, अपर सचिव प्रदीप रावत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।