featured यूपी राज्य

Uttar Pradesh Election: यूपी पांचवें चरण में अवध से लेकर पूर्वांचल तक होगा मतदान, जानें 12 जिलों की 61 सीटों का गुणा-भाग

up election general Uttar Pradesh Election: यूपी पांचवें चरण में अवध से लेकर पूर्वांचल तक होगा मतदान, जानें 12 जिलों की 61 सीटों का गुणा-भाग

Uttar Pradesh Election || उत्तर प्रदेश की 18 विधानसभा के गठन के लिए 7 चरणों में मतदान होने हैं। जिनमें से चार चरण में मतदान हो चुके हैं वहीं पांचवें चरण के लिए मतदान 27 फरवरी को होंगे। पांचवें चरण के मतदान के लिए प्रचार का आज आखिरी दिन है। पांचवें चरण में अवध से लेकर पूर्वांचल तक की सीटों पर घमासान होगा। इस चरण के दौरान 12 जिलों की 61 विधानसभा सीटों पर चुनाव होना है। जिसके लिए 692 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमाने चुनावी मैदान में उतरे हैं।

अवध से लेकर पूर्वांचल तक सियासी संग्राम

पांचवें चरण में राम जन्मभूमि अयोध्या से लेकर प्रयागराज, चित्रकूट में सियासी संग्राम होना है। जिसे भाजपा का गढ़ माना जाता है। ऐसी भी भाजपा के सामने समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस से अपने किलो के बचाने की चुनौती है।

भाजपा की वापसी आसान नहीं जानिए क्या है चुनौती

पांचवें चरण के मतदान में अयोध्या प्रयागराज चित्रकूट अमेठी रायबरेली जैसी विधानसभा सीटों पर चुनाव होने हैं जहां भाजपा का एक बार फिर से सत्ता में आना मुश्किल दिखाई दे रहा है भाजपा को अपने इस दुर्ग को बचाना काफी चुनौतीपूर्ण है वहीं कांग्रेस के लिए इस चरण में सबसे बड़ी चुनौती अमेठी और रायबरेली की सीट है आपको बताते चलें 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस नेता राहुल गांधी को अमेठी से हार का सामना करना पड़ा था जाहिर है कि इस बार कांग्रेस यहां वापसी की कोशिश कर रही है। ऐसे में इन सभी विधानसभा सीटों पर कांटे की टक्कर देखने को मिलेगी। 

योगी सरकार के इन मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर

पांचवे चरण के मतदान के लिए योगी सरकार के कई मंत्रियों की प्रतिष्ठा दांव पर लगी हुई है। पांचवें चरण के दौरान प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य सिराथू सीट से लड़ रहे हैं। वहीं कैबिनेट मंत्री श्री राजेंद्र प्रताप सिंह उर्फ मोती सिंह पुट्टी सीट से चुनावी मैदान में उतरे हैं। कैबिनेट मंत्री सिद्धार्थ सिंह इलाहाबाद पश्चिम से उम्मीदवार है। तो वही नगरीय उड्डयन मंत्री नंद गोपाल नंदी इलाहाबाद दक्षिण, समाज कल्याण मंत्री रमापति शास्त्री मनकापुर और राज्यमंत्री चंद्रिका प्रसाद उपाध्याय चित्रकूट सदर से चुनावी मैदान में लड़ रहे हैं।

राजा भैया की होगी अग्निपरीक्षा 

प्रतापगढ़ की सियासत में बेताज बादशाह कहे जाने वाली कुंडल से निर्दलीय विधायक रघुराज प्रताप सिंह उर्फ राजा भैया इस बार अपनी जनसत्ता पार्टी की ओर से चुनावी मैदान में उतरे हैं। राजा भैया और बगल की बाबागंज आरक्षित सीट से विनोद सुरजा भी समाज जनसत्ता दल से चुनावी मैदान में लड़ रहे हैं। वहीं करीब डेढ़ दशक के बाद राजा भैया के खिलाफ सपा ने पहली बार अपने उम्मीदवार के तौर पर गुलशन यादव को चुनावी मैदान में उतारा है। 

वही पांचवी चरण के मतदान में केंद्रीय मंत्री अनुप्रिया पटेल की मां कृष्णा पटेल प्रतापगढ़ सदर और बहन पल्लवी पटेल सिराथू विधानसभा सीट से सपा गठबंधन के उम्मीदवार के तौर पर उतरी हैं। जबकि अनुप्रिया पटेल भाजपा के साथ चुनावी मैदान में है। 

2017 में क्या रहा था जीत का समीकरण

पांचवें चरण की इन 61 विधानसभा सीटों पर में से 90 फ़ीसदी सीटों पर बीजेपी और अपना दल का कब्जा है। 2017 के विधानसभा चुनावों के परिणामों की बात करें तो इस दौरान 60 सीटों में से 51 सीटों पर भाजपा को जीत हासिल हुई थी। वहीं भाजपा के सहयोगी दल अपना दल को 2 सीटें मिली थी। वहीं समाजवादी पार्टी के खाते में महल 5 सीटें मिली। कांग्रेस केवल एक सीट पर सिमट गई थी। जबकि 2 सीट निर्दलीय उम्मीदवार के खाते में गई थी। और वही बसपा इन सीटों पर अपना खाता तक नहीं खोल पाई थी।

इन सीटों पर होगा मतदान

पांचवें चरण में 12 जिलों की 61 विधानसभा में होंगे मतदान। जिसमें तिलोई, सलोन (अ.जा.), जगदीशपुर (अ.जा.), गौरीगंज, अमेठी, इसौली, सुलतानपुर, सदर, लम्भुआ, कादीपुर (अ.जा.) चित्रकूट, मानिकपुर, रामपुर खास, बाबागंज, कुंडा, विश्वनाथगंज, प्रतापगढ़, पïट्टी, रानीगंज, सिराथू, मंझनपुर (अ.जा.), चायल, फाफामऊ, सोरांव (अ.जा.), फूलपुर, प्रतापपुर, हंडिया, मेजा, करछना, इलाहाबाद पश्चिम, इलाहाबाद उत्तर, इलाहाबाद दक्षिण, बारा (अ.जा.), कोरांव (अ.जा.), कुर्सी, रामनगर, बाराबंकी, जैदपुर (अ.जा.), दरियाबाद, रुदौली, हैदरगढ़ (अ.जा.) मिल्कीपुर (अ.जा.), बीकापुर, अयोध्या, गोसाईंगंज, बलहा (अ.जा.), नानपारा, मटेरा, महसी, बहराइच, पयागपुर, कैसरगंज, भिनगा, श्रावस्ती, मेहनौन, गोंडा, कटरा बाजार, कर्नलगंज, तरबगंज, मनकापुर, गौरा शामिल है। 

Related posts

Breaking News

Missile misfire: पाकिस्तानी सेना ने भारतीय मिसाइल की मिसफायर को लेकर अंतरराष्ट्रीय मंच पर हस्तक्षेप की मांग

Neetu Rajbhar

जीएसटी के बाद राहुल ने किया जीडीपी का नामकरण, बताया बीजेपी की ”ग्रॉस डिविजन पॉलिटिक्स”

Breaking News