यूपी सरकार की एक और उपलब्धि, PMMVY योजना में गढ़ा कीर्तिमान

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश की योगी आदित्‍यनाथ सरकार ने रिकॉर्ड पर रिकॉर्ड स्‍थापित करने के क्रम में एक और कीर्तिमान रच दिया है। राज्‍य सरकार ने यह कीर्तिमान गढ़ा है- PMMVY यानी प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में।

यूपी में हुए एक करोड़ महिलाओं के पंजीकरण

पीएमएमवीवाई योजना में उत्‍तर प्रदेश एक करोड़ महिलाओं का पंजीकरण कराने वाला देश का पहला राज्य बन गया है। योगी सरकार यह कीर्तिमान बीते शुक्रवार (12 मार्च) को हासिल किया है। पहली बार प्रेग्‍नेंट होने पर महिलाओं के स्‍वास्‍थ्‍य की बेहतर देखभाल और उचित पोषण के लक्ष्‍य से वर्ष 2017 में शुरू की गई इस योजना के तहत गर्भवती व धात्री महिलाओं को तीन किस्तों में 5000 रुपये दिए जाते हैं।

योजना के राज्य नोडल अधिकारी राजेश बांगिया द्वारा दी गई जानकारी के मुताबिक, प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में वर्ष 2017 से 2020 के दौरान 71,85,847 रजिस्‍ट्रेशन हुए, जबकि 2020-21 के दौरान 28,22,605 पंजीकरण हुए। इस तरह उत्‍तर प्रदेश में पीएमएमवीवाई योजना में पंजीकरण कराने वाली महिलाओं का आंकड़ा 1,0008,452 पार कर गया।

तीन किस्‍तों में मिलता है योजना का लाभ

राज्य नोडल अधिकारी राजेश बांगिया ने योजना के लाभ के बारे में जानकारी  देते हुए बताया कि, अगर कोई महिला पहली बार गर्भवती होती है तो उसके लिए पति का कोई पहचान पत्र या आधार कार्ड, मातृ-शिशु सुरक्षा कार्ड, बैंक पासबुक की फोटो कॉपी जरूरी है। योजना में पंजीकरण होने पर पहली किस्त के रूप में 1000 रुपये, डिलीवरी से पहले कम से कम एक जांच होने व प्रेग्‍नेंसी के छह महीने बाद दूसरी किस्त के रूप में 2000 रुपये और बच्चे के जन्म का रजिस्‍ट्रेशन होने व प्रथम चक्र का टीकाकरण होने पर तीसरी किस्‍त के रूप में भी 2000 रुपये की आर्थिक सहायता खाते में आती है।

PMMVY के लिए ऐसे करें आवेदन

योजना के राज्य नोडल अधिकारी ने बताया कि, इस योजना में ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों प्रकार से पंजीकरण किया जा सकता है। ऑनलाइन रजिस्‍ट्रेशन के लिए www. pmmvy-cas.nic.in पर लॉग इन करें। इसमें अपना मोबाइल नंबर डालें, जिस पर ओटीपी आएगा। इसके बाद संबंधित फॉर्म सही-सही भरना होगा। इसके अलावा अगर आप कोई समस्‍या आ रही है तो आप राज्य स्तर से हेल्प लाइन नंबर 7998799804 पर कॉल करके उसका समाधान पा सकते हैं।

विंटेज कार रैली के माध्यम से मजबूत होगी यातायात व्यवस्था, रविवार को होगा आयोजन

Previous article

Good News: आपकी विंटेज कार अब नहीं बनेगी कबाड़, IIT Dehli की तकनीक से दौड़ती रहेगी सड़क पर

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured