जातिवाद वा तुष्टीकरण की राजनीति से ग्रसित था यूपी
तुष्टीकरण की राजनीति

लखनऊ। भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने शुक्रवार को प्रदेश कार्यसमिति की बैठक का उद्घाटन वर्चुअल माध्यम से किया। इस मौके पर केंद्रीय मंत्री व उत्तर प्रदेश भाजपा के प्रभारी राधा मोहन सिंह, मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह उपस्थित रहे।
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने प्रदेश कार्यसमिति की बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश जातिवाद वाद तुष्टीकरण की राजनीति से ग्रसित था। उन्‍होंने कहा कि जातीय आधार पर सत्ता का दुरुपयोग होता था, विकास नाम की चीज नहीं थी। उत्तर प्रदेश भ्रष्टाचार, अनाचार का अड्डा बना था। आज उत्तर प्रदेश विकास के रास्ते पर आगे बढ़ रहा है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री जिस तरह उत्तर देश को आगे ले जा रहे हैं वह काबिले तारीफ है।

उत्तर प्रदेश की जनता ने सपा बसपा को नकारा

जेपी नड्डा ने कहा कि उत्तर प्रदेश की जनता ने सपा बसपा को नकार दिया है। जेपी नड्डा ने कहा कि बैठक में शामिल होना मेरा सौभाग्य है। राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा कि हमें यह भी समझना होगा कि जब पूरे विपक्षी सिर्फ बयानबाजी कर रहे थे। अफवाहें फैला रहे थे। तब हमारे प्रधानमंत्री ने एक मजबूत रणनीति बनाकर और भाजपा के कार्यकर्ताओं के साथ मिलकर कोरोना जैसी महामारी से लड़ने के लिए देश को तैयार किया। उन्‍होंने कहा कि जिस तरह से उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी ने काम किया है। कार्यकर्ताओं ने मेहनत की है। आम जन तक पहुंचे हैं और उनकी हर संभव मदद की है। यही वजह है कि अभी सम्पन्न हुए पंचायत चुनाव में भाजपा को ऐतिहासिक जीत मिली है

मोदी जी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा

बैठक को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी संबोधित किया। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि क्ष सबका साथ सबका स्वास्थ के तहत मोदी जी के नेतृत्व में देश आगे बढ़ रहा है। देश आज एक नए मुकाम पर पहुंचा है। मोदी जी के नेतृत्व में ही यह संभव हो सका कि कोरोना पर हम लोग काबू पाने में संभव हो सके हैं। मैं प्रदेश की जनता का भी धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने कोरोना काल में पूरा सहयोग किया

प्रदेश भाजपा कार्यालय में चल रही प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में प्रदेश संगठन मंत्री सुनील बंसल,उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, मुख्यमंत्री डॉ दिनेश शर्मा के अलावा सभी प्रदेश पदाधिकारी, मोर्चों के प्रदेश अध्यक्ष व क्षेत्रीय अध्यक्ष शामिल हैं। इसके अलावा प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य अपने-अपने जिलों से जिला कार्यालय से एक साथ सामूहिक रूप से वर्चुअल माध्यम से जुड़े हैं।

उत्तराखंड: हरेला पर्व के अवसर पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने किया वृक्षारोपण

Previous article

यूपी में कदम रखते ही प्रियंका ने बोला योगी सरकार पर हमला, ट्वीट में कहा- नहीं छिपेगी सच्चाई

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured