September 17, 2021 6:28 am
Breaking News featured यूपी

लोकतंत्र को बचाने का अंतिम अवसर 2022 है: अखिलेश यादव

लोकतंत्र को बचाने का अंतिम अवसर 2022 है: अखिलेश यादव

लखनऊ: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकतंत्र को बचाने का अंतिम अवसर 2022 है। उन्होंने कहा, ‘उत्तर प्रदेश में भाजपा ने जनता का चार वर्ष से अधिक समय बर्बाद कर दिया है। भाजपा राग-द्वेष से सरकार चला रही है। विधानसभा चुनाव आने तक भाजपा अभी कई रंग दिखाएगी।’

दरअसल, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को पार्टी कार्यालय में तमाम कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सभी निष्ठा से सक्रिय रहे। यूपी में 350 सीट का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए रात-दिन काम करना पड़ेगा। भाजपा सरकार का चरित्र जनविरोधी है।

किसानों का भविष्य बर्बाद कर रही भाजपा

समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने कहा है कि किसान बिल के द्वारा भाजपा किसानों का भविष्य खराब कर पूंजीपतियों को लाभ पहुंचाना चाहती है। काले कृषि कानून से खेत का मालिकाना अधिकार किसानों के हाथ से निकल जाएगा। भाजपा सुविधा के नाम पर असुविधा की व्यवस्था करती है। सरकार ने मण्डी व्यवस्था की उपेक्षा की है। अन्नदाता को उसकी फसल का न्यूनतम समर्थन मूल्य (एम.एस.पी.) नहीं मिला। किसानों की आय दूर-दूर तक दोगुनी होने की कोई सम्भावना नहीं है।

दोषपूर्ण नीतियों से करोड़ों लोगों का हुआ नुक्सान

अखिलेश यादव ने कहा है देश में बेकारी की समस्या बढ़ती जा रही है। सरकार की दोषपूर्ण नीतियों से करोड़ों लोगों का नुकसान हुआ है। भाजपा के पूंजीपति मुनाफे में कैसे पहुंचे? इसकी जांच होनी चाहिए। संवैधानिक मूल्यों का संकट गहराता जा रहा है। देश के लिए यह चिन्ताजनक है। ऐसे दौर में समाजवादियों की बड़ी जिम्मेदारी है जिससे लोकतंत्र को बचाने में सक्रिय भूमिका का निर्वहन किया जा सके।

Related posts

पूर्व केंद्रीय मंत्री जसवंत सिंह का हुआ निधन, लम्बे समय से कोमा में थे

Samar Khan

तीरथ सिंह रावत होंगे उत्तराखंड के नए मुख्यमंत्री, जानें पूरा प्रोफाइल

Sachin Mishra

उत्तराखंड: सीएम धामी के निर्देश पर हटी कांवड़ यात्रा से रोक, जानें क्यों लिया गया ये फैसला

pratiyush chaubey