मुख्तार अंसारी आएगा यूपी

लखनऊ: माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को जल्द यूपी लाया जाएगा। मुख्तार अंसारी को लेने यूपी पुलिस यूपी पुलिस पजाब पहुंच गई है। पंजाब में कोरोना टेस्ट के बाद बहुप्रतीक्षित माफिया डॉन को उत्तर प्रदेश लाया जाएगा।

रिपोर्ट का इंतजार कर रही पुलिस 

यूपी पुलिस रिपोर्ट का इंतजार कर रही है इसके बाद अगर मुख्तार की रिपोर्ट निगेटिव आती है तो उसे यूपी पुलिस उत्तर प्रदेश ले आएगी। यहां पर उसे बांदा की जेल में रखा जाएगा।

बता दें कि बुधवार को पंजाब पुलिस मुख्तार अंसारी को लेकर एंबुलेंस से मोहाली कोर्ट पहुंची, यहां पर पंजाब पुलिस ने उसे पिछले गेट से ले जाकर कोर्ट में पेश किया। इस दौरान माफिया डॉन मुख्तार अंसारी व्हीलचेयर पर बुझा हुआ था नजर आ रहा था।

बांदा जेल में चल रहीं तैयारियां

वहीं माफिया डॉन मुख्तार अंसारी के आने की खबर से बांदा जेल प्रशासन भी अलर्ट हो गया है। बाहुबली मुख्तार के आने को लेकर जेल प्रशासन अपने स्तर से सारी तैयारियां कर रहा है।

गौरतलब है कि उच्चतम न्यायालय के फैसले के बाद सबसे पहले मुख्तार को बांदा की जिला जेल में रखा जाएगा उसके बाद एमपी/एमएलए कोर्ट तय करेगी कि उसे यूपी की किस जेल में रखा जाए।

कैबिनेट मंत्री ने लगाया गंभीर आरोप

यूपी सरकार में कैबिनेट मंत्री सिद्धर्थनाथ सिंह ने कहा कि यूपी की योगी सरकार माफियाओं, अपराधियों पर जीरो टॉलरेंस की नीति पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि माफिया डॉन को कैप्टन अमरिंदर सरकार और प्रियंका गांधी बचा रही थीं। उन्होंने कहा कि अब नंबर वन माफिया को यूपी लाया जाएगा जिसकी तैयारियां की जा रही हैं।

योगी सरकार को मिली थी जीत

बता दें कि माफिया डॉन मुख्तार अंसारी एक छोटे से अपराध के मामले में पंजाब की एक जेल में बंद है। उसको यूपी लाने के लिए सुप्रीम कोर्ट में योगी सरकार ने ट्रांसफर याचिका दायर की थी, जिसमें माफिया डॉन को वापस यूपी लाने की मांग सरकार ने की थी।

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट ने कोर्ट में दलील सुनी और योगी सरकार के पक्ष को सही माना और पंजाब सरकार को दो हफ्ते में मुख्तार अंसारी को यूपी भेजने का आदेश दे दिया। इसके साथ ही सुप्रीम कोर्ट ने मुख्तार अंसारी की ट्रांसफर याचिका भी खारिज कर दी।

पंजाब और यूपी थे आमने-सामने

पंजाब की कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार और यूपी की योगी सरकार माफिया डॉन मुख्तार अंसारी को लेकर काफी दिनों से आमने-सामने थीं। दोनों ही सरकारों ने इस मामले को नाक का सवाल बना दिया था। दरअसल पंजाब में एक छोटे से केस में मुख्तार जेल में बंद था। खबरों के अनुसार यहां उसको पूरा वीआईपी ट्रीटमेंट दिया जा रहा था।

मुकदमों का निपटारा चाहती है सरकार

वहीं योगी सरकार चाहती थी कि माफिया डॉन को जल्द से जल्द यूपी लाया जाए जिससे यहां पर उस पर एमपी/एमएलए कोर्ट में लंबित मुकदमों को फिर से चलाया जा सके।  मुख्तार अंसारी को लेने यूपी पुलिस कई बार पंजाब गई लेकिन स्वास्थ्य कारणों का हवाला देकर पुलिस को लौटा दिया गया।

भारत-पाकिस्तान के सुधर रहे रिश्ते, पाक फिर से शुरू करेगा व्यापार…

Previous article

भूमिगत केबलिंग परियोजना का लोकार्पण, सीएम ने पीएम मोदी का जताया आभार

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured