उत्तर प्रदेशःहरदोई में गड्ढा मुक्ति अभियान का उड़ा मखौल नेशनल हाईवे की सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे

उत्तर प्रदेश में बीजेपी की योगी सरकार बनने के बाद सड़कों को गड्ढा मुक्त कराने के लिए कमर कसी थी। इतना ही नहीं पीडब्ल्यूडी  विभाग को भी निर्देशित किया कि उत्तर प्रदेश की सभी सड़कें गड्ढों से मुक्त हों। लेकिन हालात कुछ और ही है, सड़कों को गड्ढा मुक्त करते-करते खुद गड्ढों में सड़कें चली गईं।आपको बता दें कि उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में अधिकतर ऐसी सड़के हैं, जो गड्ढा मुक्त अभियान को मुंह चिढ़ाती नजर आ रही हैं। उनमें से हरदोई से शाहजहांपुर होते हुए बरेली से नेशनल मार्ग में जोड़ने वाली सड़क का हाल बेहाल है।

 

उत्तर प्रदेशःहरदोई में गड्ढा मुक्ति अभियान का उड़ा मखौल नेशनल हाईवे की सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे
उत्तर प्रदेशःहरदोई में गड्ढा मुक्ति अभियान का उड़ा मखौल नेशनल हाईवे की सड़कों में गड्ढे ही गड्ढे

 

योगी सरकार ने दिया होमगार्डों को खुशखबरी, दैनिक भत्ते में की भारी बढ़ोतरी

हरदोई से शाहजहांपुर होते हुए बरेली से नेशनल मार्ग में जोड़ने वाली सड़क का हाल बेहाल है

आपको बता दें कि हरदोई से शाहजहांपुर होते हुए बरेली से नेशनल मार्ग में जोड़ने वाली सड़क का हाल बेहाल है। सड़कों में गड्ढे नहीं बल्कि गड्ढे में सड़क दिखाई दे रही है।हमारे संवाददाता ने जब इसकी हकीकत जानने के लिए वहां के लोगों से बातचीत की,तो वहां पर लोगों ने बताया कि कई बार इसमें मिट्टी और बजरी डाली गई, लेकिन डामर ना होने के कारण दो-चार दिन भी नहीं चली कई बार मिट्टी डाली गई लेकिन नेशनल हाईवे की सड़क है वाहन भी अधिक चलते हैं वह मिट्टी कितने दिन रुकेगी।

 डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा था कि 90% सड़कें गड्ढों से मुक्त की गईं हैं

स्थानीय लोगों का कहना था कि यहां पर स्कूल के लिए जाने वाले हमारे बच्चे आए दिन कीचड़ में गिरते हैं। और हादसे भी अक्सर होते रहते हैं लेकिन इस और अधिकारियों का ध्यान नहीं है।जबकि उत्तर प्रदेश के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने मीडिया से मुखातिब होते हुए कहा था कि 90% सड़कें गड्ढों से मुक्त कर दी गई हैं। लेकिन सड़ोकों की जमीनी हकीकत कुछ और ही बयां कर रही है।

आशीष सिंह