zeeka यूपी: जीका वायरस को लेकर अलर्ट नहीं,जानिए कितना घातक है यह वायरस

लखनऊ। देश में भले ही कोरोना वायरस के बीच एक और वायरस ने चिंता बढ़ा दी है। लेकिन उत्तर प्रदेश में इसको लेकर कोई खतरा नहीं है। शायद यही वहज है कि इसको लेकर यहां कोई अलर्ट नहीं जारी किया गया है। प्रदेश के स्वास्थ्य महानिदेशक डा डीएस नेगी ने कहा है कि हमें इस बारे में अभी कोई जानकारी नहीं दी गयी है।

दरअसल,केरल में इस वायरस के मामले बढ़े हैं, जिसके बाद केरल में अलर्ट की स्थिति बन गई है। वहां की मौजूदा स्थिति जानने के लिए आनन-फानन में दिल्ली से विशेषज्ञों की एक टीम रवाना हुयी थी। बताया जा रहा है कि केरल में इस वायरस की चपेट में लगभग 18 लोग आ गये हैं।

मिली जानकारी के मुताबिक केरल के दौरे पर गई दिल्ली एम्स के दल ने  जीका वायरस को लेकर देश के दूसरे राज्यों को भी अलर्ट रहने को कहा है। जिसके बाद राजधानी दिल्ली और मुंबई समेत देश के कई बड़े शहर में स्वास्थ्य विभाग अलर्ट हो गया है। जबकि उत्तर प्रदेश में अभी तक इसकों लेकर कोई अलर्ट जारी नहीं हुआ है।

यह हाल तब है जब मच्छरों के काटने से होने वाले इस संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि केरल में बीते गुरुवार को हुई थी। लेकिन महज 48 घंटों के अन्दर ही वायरस के मामले बढ़ गये। बताया जा रहा है कि पहले 48 घंटों के बीच मामले बढ़कर 14 हुये,उसके बाद मौजूदा समय में चार और मामले बढ़ गये हैं।

इस तहर फैलता है वायरस

जीका वायरस एडीज मच्छरों के काटने से फैलता है, यही मच्छर डेंगू व चिकुनगुनिया भी फैलाते हैं। बताया जा रहा है कि जीका वायरस ज्यादा खतरनाक नहीं होता,जानकारों की माने तो यह जानलेवा नहीं होता है,लेकिन गर्भवती महिलाओं को इसका संक्रमण हो सकता है,जिससे उसके बच्चे में विकृति आ सकती है।

लक्षण

जीका वायरस की चपेट में आये लोगों में बुखार,आंखों का संक्रमण,जोड़ों का दर्द तथा शरीर पर लाल चकत्ते हो सकते हैं।

अब केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स मंत्री राजीव चंद्रशेखर के ट्विटर अकाउंट से हटा ब्लू टिक

Previous article

मध्य प्रदेश: दिग्विजय सिंह समेत कांग्रेस के कई वरिष्ठ नेताओं पर केस दर्ज

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured