September 28, 2021 8:20 pm
featured यूपी

फतेहपुर: एंबुलेंस कर्मचारियों की भर्ती में उमड़ी भीड़, जाम में फंसी एंबुलेंस

फतेहपुर: एंबुलेंस कर्मचारियों की भर्ती में उमड़ी भीड़, जाम में फंसी एंबुलेंस

फतेहपुर: शहर के चौराहे पर ट्रैफिक पुलिसकर्मी तो मौजूद रहे लेकिन कुछ ही दूरी पर एंबुलेंस जाम में फंस गई। दरअसल, सोमवार को शांति नगर स्थित एक निजी कॉलेज में एंबुलेंस भर्ती प्रक्रिया चल रही थी। ऐसे में यहां पर अभ्यर्थियों की भारी भीड़ उमड़ी और उनके वाहन सड़क पर ही पार्क होते रहे, जिससे आसपास ट्रैफिक जाम हुआ और एंबुलेंस जाम में फंस गई।

कौशांबी व कानपुर देहात के लिए हो रही थी भर्ती

जिले में कौशांबी और कानपुर देहात जिले के लिए निजी कंपनी एंबुलेंस पायलट और ईएमटी (इमरजेंसी मेडिकल टेक्नीशियन) के पदों की भर्ती करवा रही है। इसके लिए शनिवार से प्रक्रिया शुरू हुई थी, जो सोमवार को समाप्त हो गयी। इस दौरान यहां पर भारी संख्या में लोग उमड़े। सुबह 10 बजे से चल रही प्रक्रिया में पहले तो लोगों की भीड़ कम रही, लेकिन एक घंटे बाद ही यहां पर अभ्यर्थियों की भारी भीड़ आ गयी। इस दौरान जो लोग अपने वाहनों से आए, वे सड़क किनारे ही वाहन पार्क करने लगे। इससे प्रयागराज और शहर के अंदर जाने वाले संपर्क मार्ग पर ट्रैफिक प्रभावित होने लगा।

फतेहपुर: एंबुलेंस कर्मचारियों की भर्ती में उमड़ी भीड़, जाम में फंसी एंबुलेंस

इसी दौरान शहर से प्रयागराज की ओर जाने वाले मार्ग पर एक एंबुलेंस जाम का शिकार हो गयी। हालांकि, हूटर बजाती एंबुलेंस जैसे-तैसे लोगों के सहयोग से निकल तो गयी, लेकिन बाकी वाहन फंस गए। साथ ही आस-पास निजी अस्पताल भी हैं, जिससे यहां आने वाले मरीज और तीमारदार भी अपना वाहन सड़क के किनारे ही पार्क करते रहे, जिसमें निजी एंबुलेंस और हॉस्पिटल की एंबुलेंस भी शामिल थीं। अनियंत्रित यातायात का प्रभाव भर्ती स्थल से करीब दो सौ मीटर के आसपास से ज्यादा रहा। मामले पर यातायात पुलिस उपाधीक्षक संजय सिंह ने कार्रवाई करते हुए मौके पर पुलिस बल भेजा, तब जाकर कहीं यातायात सामान्य हो पाया।

“एंबुलेंस भर्ती को लेकर कुछ ट्रैफिक समस्याएं आईं थी, जिसे पर सूचना मिलते ही मौके पर यातायात पुलिसकर्मियों को भेजकर यातायात को सामान्य कराया गया। इसके साथ ही वहां पर बेतरतीब खड़े वाहनों को सड़क से हटाकर दूर किया गया।”

संजय कुमार सिंह, पुलिस उपाधीक्षक यातायात, फतेहपुर

Related posts

अनलॉक होते ही दिल्ली में बढ़े केस, 36 मरीजों ने तोड़ा दम

Saurabh

कोरोना के कारण पूरे देश में लॉकडाउन, काम से निकाले गए मजदूर पैदल गांव जाने के लिए मजबूर

Rani Naqvi

बर्खास्त नेताओं को लेकर सपा सुप्रीमों के तेवर सख्त

piyush shukla