featured यूपी

KGMU कोरोना टेस्टिंग किट घोटाले में जांच शुरू, हो सकता है बड़ा खुलासा  

KGMU कोरोना टेस्टिंग किट घोटाले में जांच शुरू, हो सकता है बड़ा खुलासा  

लखनऊ: राजधानी स्थित किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी (KGMU) में कोरोना टेस्टिंग किट घोटाले की जांच शासन स्‍तर से शुरू हो गई है। इस संबंध में शिकायत कर जांच की मांग एक्टिविस्ट डॉ. नूतन ठाकुर ने की थी।

डॉ. नूतन ठाकुर ने की थी शिकायत 

एक्टिविस्‍ट डॉ. नूतन ने शिकायत की थी कि, केजीएमयू वीटीएम किट एवेंटर परफॉर्मेंस मैटीरियल इंडिया प्राइवेट लिमिटेड से 35.40 रुपए की दर से खरीद रहा है, जिसके द्वारा बिहार में ये किट 19.40 रुपए में सप्लाई किया गया है। जबकि उसी किट को यूपी मेडिकल सप्लाई कॉर्पोरेशन मात्र 7.25 रुपए में खरीद रहा है।

KGMU कोरोना टेस्टिंग किट घोटाले में जांच शुरू, हो सकता है बड़ा खुलासा  
उन्‍होंने आगे बताया था कि, झारखंड ने यह किट 22.40 रुपए में और गुजरात ने 13.44 पैसे की दर से खरीदा। इसी तरह केजीएमयू आरएनए एक्सट्रैक्शन किट मेसर्स जीनियस बायो सिस्टम पूणे से 65.03 रुपए में खरीद रहा है, जबकि गुजरात यह किट 13.95 रुपए और उड़ीसा 14 रुपए में खरीद रहा है। इसके अलावा केजीएमयू आरटी-पीसीआर किट मेसर्स इवोल्यूशन प्रा. लिमिटेड से 50.40 रुपए में खरीद रहा है, जबकि यह किट गुजरात 23 रुपए, झारखंड 28 रुपए और असम 30.88 रुपए में खरीद रहा है।

किट घोटाले मामले में जांच शुरू

इस शिकायत के बाद केजीएमयू वीसी ने टेंडर निरस्त करवा दिया और जेम पोर्टल के जरिए अब नए सिरे से टेंडर की बात कही। इस पर अधिवक्‍ता डॉ. नूतन ने मामले में एफआइआर की मांग की। इस संबंध में इंस्पेक्टर चौक ने अपनी आख्या में बताया कि, मामले में शासन स्तर से विभिन्न संस्थानों के पदाधिकारियों की कमिटी गठित कर जांच कराई जा रही है। जांच के बाद विधिक कार्यवाही की जाएगी।

यह भी पढ़ें: KGMU कोरोना टेस्टिंग किट घोटाले में FIR व VC की बर्खास्तगी की मांग

Related posts

मासूम के साथ दरिंदगी की घटना का एसपी ने किया खुलासा, पोर्न साइट देख आरोपी ने दिया घटना को अंजाम

Aman Sharma

फिल्म इंडस्ट्री में रेप होता है तो रोजी रोटी मिलती है, अपने इस बयान पर सरोज खान ने मांगी माफी

Rani Naqvi

शरीफ ने फिर छेड़ा कश्मीर राग, भारत ने कहा बंदूक लेकर नहीं हो सकती वार्ता

shipra saxena