January 25, 2022 4:28 pm
featured यूपी

यूपी में टीकाकरण 17 करोड़ के पार, देश में बना नंबर वन

लखनऊ: यूपी के 60 जिले कोरोना मुक्त, अभी इन जिलों में इतने एक्टिव केस, पढ़ें पूरी खबर

कोरोना संक्रमण के नए वैरिएंट को ध्यान में रखते हुए प्रदेश सरकार लोगों को जल्द से जल्द व टीका कवच उपलब्ध कराने के लिए प्रतिबद्ध है। इसके लिए सरकार यूपी में टीकाकरण की रफ्तार को बढ़ाने पर जोर दे रही है।

प्रदेश सरकार के प्रयासों के सफल परिणाम मंगलवार को देखने को मिला। अब तक 17 करोड़ से अधिक टीकाकरण कर उत्तर प्रदेश ने देश में सर्वाधिक टीके लगाने का कीर्तिमान स्थापित किया है। यूपी में 17 करोड़ चार लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण किया जा चुका है। इसमें पहली डोज 11 करोड़ 56 लाख से अधिक और दूसरी डोज 05 करोड़ 48 लाख दी जा चुकी है।

यह भी पढ़े

लाल टोपी वाले यूपी के लिए ‘रेड अलर्ट’, इनको तो बस लालबत्ती से मतलब – प्रधानमंत्री

 

कोरोना टीकाकरण अभियान में उत्तर प्रदेश दूसरे प्रदेशों से कहीं आगे हैं। प्रदेश ने सर्वाधिक टेस्ट और टीकाकरण कर दूसरे प्रदेशों के समक्ष एक नजीर पेश की है। 24 करोड़ की आबादी वाले यूपी में सीएम योगी आदित्येनाथ के निर्देशानुसार एक सधी रणनीति के तहत तेजी से टीकाकरण किया जा रहा है। शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण की प्रक्रिया को बढ़ावा देने के उद्देश्यक से एक प्रभावी रणनीति के अनुसार टीकाकरण किया जा रहा है। कम समय में तेजी से टीकारकण करने वाले यूपी में अब तक 78.05 प्रतिशत पात्र लोगों ने पहली और 36.63 प्रतिशत पात्र लोगों ने दूसरी डोज का टीका कवर प्राप्ति कर लिया है।

क्लस्टर 2.0 से टीकाकरण में आई तेजी

प्रदेशवासियों को जल्दो से जल्द टीकाकवर देने के उद्देश्यि से प्रदेश में क्लस्टर 2.0 अप्रोच को लागू किया गया है। क्लस्टर 2.0 से टीकाकरण की रफ्तार में काफी तेजी से इजाफा हुआ है। गांवों में क्लस्टर 2.0 अप्रोच से टीकाकरण की दूसरी डोज की रफ्तार तेजी से बढ़ रही है। क्लस्टर मॉडल के जरिए जिन ग्रामों, मोहल्लों में प्रथम डोज लगाने का कार्य सफलतापूर्वक किया गया था, उन ग्रामों में क्लस्टर मॉडल के तहत दूसरी डोज को लगाने का काम किया जा रहा है।

Related posts

यूपी में चार करोड़ 63 लाख लोगों को लग चुकी कोरोना वैक्सीन

Shailendra Singh

EVM में गड़बड़ी के मुद्दे पर चुनाव आयोग से फिर मिलेगा विपक्षी दल

shipra saxena

पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड की पहली महिला निदेशक बनी आलिया जफर

Hemant Jaiman