गन्ना संस्थान को किसानों ने घेरा, कहा- 14 हजार करोड़ का भुगतान करे सरकार

लखनऊ: राजधानी स्थित गन्ना संस्थान पर भारतीय किसान यूनियन (बलराज) के बैनर तले जुटे सैकड़ों किसानों ने गुरुवार को डेरा डाल दिया। किसान गन्ने का बकाया और उसके मूल्य निर्धारण को लेकर गन्ना संस्थान पर जुटे हैं। किसान एक सुर में कह रहे हैं कि जब तक उनकी मांगे पूरी नहीं होंगी, तब तक वह यहां से हटेंगे नहीं।

लखनऊ में गन्ना संस्थान को किसानों ने घेरा, कहा- 14 हजार करोड़ का भुगतान करे सरकार

भारतीय किसान यूनियन (बलराज) के प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची ने कहा है कि, साल 2011 से किसानों का गन्ने का करीब 11000 करोड़ रुपए बकाया है, जो अभी तक किसानों को नहीं मिला है और ब्याज जोड़कर यह पैसा 23000 करोड़ के करीब हो गया है। किसानों का पैसा जल्द से जल्द मिलना चाहिए। इसके अलावा उन्होंने कहा कि, गन्ने का मूल्य प्रति कुंतल 450 रुपये होना चाहिए।

प्रधानमंत्री मोदी ने किया था चुनावी वादा

प्रदेश अध्यक्ष की मानें तो साल 2014 में प्रधानमंत्री मोदी ने सहारनपुर में चुनाव के दौरान किसानों से वादा किया था कि हमारी सरकार बना दो तो 14 दिन के अंदर गन्ने का भुगतान कर दिया जाएगा। इसके अलावा उन्होंने कहा था कि यदि 14 दिन के भीतर भुगतान नहीं होता है तो ब्याज समेत पैसा दिया जाएगा, जो कि अब तक नहीं दिया गया है।

लखनऊ में गन्ना संस्थान को किसानों ने घेरा, कहा- 14 हजार करोड़ का भुगतान करे सरकार

चौधरी शौकत अली चेची, प्रदेश अध्यक्ष, भारतीय किसान यूनियन (बलराज)

प्रदेश अध्यक्ष चौधरी शौकत अली चेची ने कहा कि, हमारी सरकार से मांग है कि गन्ने का भुगतान देने के साथ ही बढ़ते हुए पेट्रोल-डीजल के दामों पर सरकार को सोचना चाहिए। इस पर रोक लगानी चाहिए, इसकी रोकथाम करनी चाहिए, क्योंकि इसका सीधा असर किसानों पर पड़ रहा है।

पंजाब कांग्रेस में खत्म हुई कलह ! नवजोत सिंह सिद्धू बनाए जाएंगे पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष

Previous article

IRCTC की मदद से ट्रेन में लीजिए मनपसंद व्यंजनों का स्वाद, जानिए कैसे

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured