featured यूपी

अखिलेश यादव नहीं चाहते आजम खान आएं जेल से बाहर, फसाहत अली ने कह डाली ये बड़ी बात

123 1 अखिलेश यादव नहीं चाहते आजम खान आएं जेल से बाहर, फसाहत अली ने कह डाली ये बड़ी बात

चाचा शिवपाल यादव के बाद अब अखिलेश यादव को आजम खान के समर्थकों की नाराजगी का भी सामना करना पड़ रहा है।

gdgd अखिलेश यादव नहीं चाहते आजम खान आएं जेल से बाहर, फसाहत अली ने कह डाली ये बड़ी बात

 

सीतापुर जेल में बंद आजम खान के करीबी और मीडिया सलाहकार फसाहत अली ने अखिलेश यादव पर आरोप लगाया है कि उन्होंने आजम खान के लिए न तो संसद में और न ही विधानसभा में आवाज उठाई।

यह भी पढ़े

यूपी सरकार का ट्विटर अकाउंट हैक, मचा हड़कंप, 3 दिन में दूसरी बार की गई हैकिंग

 

फसाहत अली के इस बयान के बाद उत्तर प्रदेश के सियासी गलियारों में अटकलों का बाजार तेज हो गया है। कयास लगाए जा रहे हैं कि शिवपाल की तरह ही आजम खान भी अखिलेश यादव से दूरी बना सकते हैं।

 

123 1 अखिलेश यादव नहीं चाहते आजम खान आएं जेल से बाहर, फसाहत अली ने कह डाली ये बड़ी बात

अखिलेश को हमारे कपड़ों से आती है बदबू – आजम खान

आपको बता दें कि फसाहत खान सानू ने रविवार देर रात रामपुर में पार्टी दफ्तर में आजम खान के समर्थकों की एक बैठक में ये टिप्पणी की। फसाहत ने कहा कि हमने अखिलेश और मुलायम सिंह यादव को यूपी का मुख्यमंत्री बनाया लेकिन उन्होंने आजम खान को नेता प्रतिपक्ष नहीं बनाया। वो सिर्फ एक बार उनसे जेल में मिलने गए।

bxfdf अखिलेश यादव नहीं चाहते आजम खान आएं जेल से बाहर, फसाहत अली ने कह डाली ये बड़ी बात

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक आजम खान इस बात से नाराज हैं कि सिवाय एक बार के अखिलेश यादव उनसे सीतापुर जेल में मिलने नहीं गए। जहां वह फरवरी 2020 से बंद हैं। आजम खान ने 2022 का उत्तर प्रदेश विधान सभा चुनाव लड़ा और सीतापुर जेल में सलाखों के पीछे से 10वीं बार रामपुर सीट जीती। फसाहत ने कहा कि आजम खान के इशारे पर न सिर्फ रामपुर में बल्कि कई जिलों में भी मुसलमानों ने सपा को वोट दिया। लेकिन सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष ने मुसलमानों का पक्ष नहीं लिया।

 

 

 

पिछले दो साल से जेल में बंद हैं आजम

आजम खान दो साल से ज्यादा समय से जेल में हैं। लेकिन सपा अध्यक्ष केवल एक बार जेल में उनसे मिलने गए। इतना ही नहीं पार्टी में मुसलमानों को महत्व नहीं दिया जा रहा है। फसाहत ने आगे कहा कि अब लगता है कि अखिलेश यादव को हमारे कपड़ों से बदबू आ रही है। दिलचस्प बात यह है कि एक दिन पहले सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क ने भी आरोप लगाया था कि सपा मुसलमानों के लिए काम नहीं कर रही है।

Related posts

राशनकार्ड बनाने से तहसीलदार ने किया मना तो युवक ने लगाई ये तरकीब, पढ़कर ठहाके लगाने लगेंगे आप

Hemant Jaiman

विश्व आर्थिक मंच ने जारी की वैश्विक विनिर्माण सूची, भारत को मिला 30वां स्थान

Breaking News

छठ पर्व पर व्रत करने वाली महिलाओं को होती है पुत्र रत्न की प्राप्ति

mahesh yadav