featured यूपी

फतेहपुर: दो थानों की कार्रवाई में भी नहीं मिला इंसाफ, अब इस चौखट पर लगाई गुहार

फतेहपुर: दो थानों की कार्रवाई में भी नहीं मिला इंसाफ, अब इस चौखट पर लगाई गुहार

फतेहपुर: फतेहपुर जिले में एक महिला पिछले 17 दिनों से इंसाफ के लिए तरस रही है। पीड़िता ने दो थानों पर कार्रवाई न करने का आरोप लगाते हुए जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक से न्याय की गुहार लगाई है। जिस पर वरिष्ठ अधिकारियों ने मंगलवार को कार्रवाई के आदेश दिए हैं। हालांकि, दोनों थानों ने कार्रवाई करने का दम भरा है।

मलवां थाना क्षेत्र की रहने वाली अमेरिका ने जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे को बताया कि, वह तीन जुलाई को अपने घर में अकेली थी। उसी समय सुबह नौ बजे असोथर थाना क्षेत्र के खेसहन का रहने वाला पुत्तन उर्फ रमेश, प्रकाश और उसके साथ सुजानपुर असोथर का रहने वाला लालता आया और उसे जबरन उसे अपने गांव लखनहा ले गया। फिर पुत्तन ने उसके साथ दुष्कर्म किया। इसके बाद उसने धमकाते हुए उसे अपना मुंह बंद रखने को कहा।

आरोपित के पिता पर भी दुर्व्‍यवहार का आरोप  

पीड़िता ने बताया कि, उसके साथ दो अन्य आरोपी लालता और प्रकाश भी उसी का साथ दे रहे थे। इसी बीच पुत्तन के पिता इंद्रजीत ने उससे गलत व्यवहार किया। विरोध जताने पर वह आग बबूला हो गया और 10 जुलाई को इंद्रजीत उसे कार में बैठकर मलवां थाना के आसपास छोड़ कर फरार हो गया। मजबूरी में पीड़िता को थाने में समय गुजारना पड़ा।

मामले में पुलिस अधीक्षक राजेश कुमार सिंह ने थाना प्रभारियों को पीड़िता की तहरीर पर कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं। मामले पर पीड़िता ने जिलाधिकारी अपूर्वा दुबे के सामने भी अपनी बात रखी। जिस पर डीएम ने मलवां थाना इंस्पेक्टर से पूरी जानकारी करते हुए उन्हें कार्रवाई को कहा है।

दो थानों में कार्रवाई की बात

पीड़िता की शिकायत पर असोथर इंस्पेक्टर नागेंद्र कुमार नागर ने बताया कि, महिला को कार्रवाई के प्रति आश्वस्त किया गया है। वह आकर अपनी बात रख सकती हैं। वहीं, मलवां थाने का कहना है कि पीड़िता का पति समझौते के तहत उसे यहां से ले गया है, जिसकी प्रति थाने में सुरक्षित है। घटनाक्रम पर अब पीड़िता एक बार फिर असोथर थाने का दरवाजा खटखटाने की तैयारी कर रही है।

Related posts

RR VS DD: प्ले ऑफ में बने रहने के लिए दोनों टीमों को जीत की दरकार

lucknow bureua

अभी भी जिंदा है ISISI सरगना बगदादी- अमेरिकी रक्षा मंत्री

Pradeep sharma

अस्पताल ने एंबुलेंस में महिला की जगह घर भेजा पुरुष का शव

Rani Naqvi