featured यूपी

UP: वीकेंड लॉकडाउन पर भारी, पान-मसाला व सिगरेट की कालाबाजारी  

UP: वीकेंड लॉकडाउन पर भारी, पान-गुटखा व सिगरेट की कालाबाजारी  

लखनऊ: उत्तर प्रदेश में पहले नाइट कर्फ्यू और अब वीकेंड लॉकडाउन के फैसले से गुटखा और सिगरेट (निकोटीनयुक्त सामग्री) व्यापारियों की चांदी हो गई है।

रविवार के दिन वीकेंड लॉकडाउन शुरू होते ही एक ओर जहां ज्‍यादातर बड़े दुकानदार अभी से स्टॉक स्टोर करने में जुट गए हैं तो वहीं छोटे दुकानदारों ने प्रति पीस दामों में बढ़ोत्तरी कर दी है।

संपूर्ण लॉकडाउन और प्रतिबंध के कयास शुरू  

जानकारी के मुताबिक, फुटकर दुकानदारों का मानना है कि संपूर्ण लॉकडाउन लगने के आसार हैं। इस दौरान पान-मसाला पर भी प्रतिबंध लगाने के कयास लगाए जा रहे हैं, इसीलिए बड़े दुकानदार ज्यादा मुनाफा कमाने के चक्कर में अभी से माल डंप कर रहे हैं। जब काफी जद्दोजहद करने के बाद सामग्री देते भी हैं तो तय कीमत से अधिक रकम लेते हैं।

उनके मुताबिक, अगर होलसेलर और बड़े दुकानदार अभी से माल डम्प करके आने वाले समय में मोटा पैसा कमाने का सपना देख रहे हैं। संपूर्ण लॉकडाउन के दौरान निकोटीन युक्‍त सामग्री भले ही प्रतिबंधित ना हो, लेकिन आम आदमी की जेब पर इसका असर अभी से पड़ना शुरू हो गया है।

जरूरी चीजों की भी हो सकती है कालाबाजारी

प्रदेश में निकोटीन युक्‍त सामग्री जैसे- पान, मसाला, तंबाकू, सिगरेट आदि पर फुटकर में एक से पांच रुपए तक बढ़ोत्तरी की गई है तो वहीं पैकेट के दाम 40 से 50 रुपए तक बढ़ा दिए गए हैं। अगर इन पर सही समय में नकेल नहीं कसी गई तो और भी जरूरी चीजों की कालाबाजारी होगी। बता दें कि पिछले साल भी लॉकडाउन के दौरान थोक से लेकर फुटकर विक्रेताओं तक ने निकोटीन युक्‍त सामग्री दो से चार गुने दाम में बेंची थी।

Related posts

यूपी-बिहार के कलाकारों को भोजपुरी सिनेमा में मिलेगी प्राथमिकता: निरहुआ

Shailendra Singh

Mexico Nayarit Bus Accident: मेक्सिको में बस हाइवे से नीचे खाई में गिरे, 18 लोगों की मौत

Rahul

पी चिदंबरम: मोदी सरकार की कश्मीर नीति, ‘चरमपंथी नीति’

Srishti vishwakarma