featured यूपी

UP: स्वास्थ्य मंत्री ने किया इंटीग्रेटेड कोविड सेंटर का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये निर्देश    

UP: स्वास्थ्य मंत्री ने किया इंटीग्रेटेड कोविड सेंटर का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये निर्देश    

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के चिकित्सा स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री जय प्रताप सिंह ने बुधवार को स्मार्ट सिटी स्थित इंटीग्रेटेड कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर का निरीक्षण किया। साथ ही यहां पर हाईटेक कंट्रोल रूम की संचालन व्यवस्था का भी जायजा लिया।

इस दौरान मंत्री जय प्रताप सिंह ने कहा कि, कोविड पॉजिटिव आने वाले मरीजों की कॉन्‍टैक्‍ट ट्रेसिंग नियमित तौर पर करते हुए ए-सिम्पटोमेटिक लोगों से घोषणा पत्र लेकर होम आइसोलेट करने की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।

 

luck 3 UP: स्वास्थ्य मंत्री ने किया इंटीग्रेटेड कोविड सेंटर का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये निर्देश    

जिलाधिकारी ने दी व्‍यवस्‍थाओं की जानकारी

लखनऊ के जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने स्वास्थ्य मंत्री को कोविड-19 को लेकर राजधानी में इलाज, फोलोअप, एंबुलेंस, एडवांस लाइफ सपोर्ट सिस्टम एवं एल-1, एल-2, एल-3 कोविड हॉस्पिटल्स में कोरोना मरीजों के समुचित इलाज के लिए की जा रही व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी दी।

जिलाधिकारी ने बताया कि, कंट्रोल रूम में कोविड मरीजों, एंबुलेंस मैनेजमेंट, डोर टू डोर सर्विलांस मैनेजमेंट, कोविड हॉस्पिटलस मैनेजमेंट व नॉन कोविड हॉस्पिटल्स मैनेजमेंट कार्य भी ऑपरेशनल कर दिए गए हैं। साथ ही नियमित तौर पर हॉस्पिटल्स में भर्ती होने वाले मरीजों के इलाज, एंबुलेंस, बेड्स की उपलब्धता आदि का भी अपडेट लिया जा रहा है। इन्‍हीं अपडेट सूचनाओं के आधार पर उपलब्ध संसाधनों के माध्यम से मरीजों को बेहतर इलाज की व्यवस्था मुहैया कराई जा रही है।

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने दिया जनता को जागरूक करने का निर्देश

इसके बाद स्वास्थ्य मंत्री जय प्रताप सिंह ने स्मार्ट सिटी सभागार में एक समीक्षा बैठक की। बैठक में उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि, सर्विलांस, ट्रेसिंग, टेस्टिंग आदि एक्टिविटी के साथ-साथ आम जनमानस को जागरूक करने के लिए भी व्यापक कार्य किया जाएं।

 

luck 2 UP: स्वास्थ्य मंत्री ने किया इंटीग्रेटेड कोविड सेंटर का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये निर्देश    

स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने कहा कि, पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा कोविड से बचाव के बारे में और वैक्सीनेशन के बारे में लोगों को जागरूक किया जाए। इस संबंध में डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया कि, अभी वर्तमान में 10 आइटीएमएस चौराहों पर एनाउंसमेंट कराया जा रहा है और कल से अन्य मुख्य चौराहों पर बने शौचालयों पर स्पीकर लगाकर एनाउंसमेंट के द्वारा आमजनों को जागरूक किया जाएगा।

पब्लिक एड्रेस सिस्टम से लोगों में जागरुकता

जिलाधिकारी ने कहा कि, कल (गुरुवार) से करीब 100 चौराहों पर एनाउंसमेंट के द्वारा लोगों को जागरूक करने की व्यवस्था की गई है। इसी प्रकार से व्यापार मंडल और बैंक के पदाधिकारियों के साथ बैठक करके मार्केट व बैंकों में भी पब्लिक एड्रेस सिस्टम के द्वारा लोगों को जागरूक करने के निर्देश दिए गए हैं।

डीएम अभिषेक प्रकाश ने बताया कि, कोरोना के बढ़ते हुए संक्रमण को देखते हुए आरआरटी टीमों की संख्या को भी बढ़ाया गया है और एग्रेसिव सर्विलांस, ट्रेसिंग व टेस्टिंग कराई जा रही है। इसके अलावा एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टॉप व टोल प्लाजा पर सातों दिन 24 घंटे सर्विलांस एवं टेस्टिंग का कार्य किया जा रहा है। साथ ही साथ प्रतिदिन होटलों में रुकने वाले यात्रियों की भी टेस्टिंग कराई जा रही है।

डीएम ने कहा- कराई जा रही है टारगेट टेस्टिंग

लखनऊ जिलाधिकारी ने बताया कि, कोविड संक्रमण पर नियंत्रण करने के उद्देश्य से स्कूल, ऑफिस, बैंक व दुकानों पर टारगेट टेस्टिंग भी कराई जा रही है। साथ ही साथ कोविड रोगियों को त्वरित उपचार उपलब्ध कराने के उद्देश्य से एएलएस व बीएलएस एंबुलेंस की संख्या को भी बढ़ाया गया है। उन्‍होंने बताया कि, मॉर्डन आइटी टूल का प्रयोग करते हुए अत्याधुनिक इंट्रीग्रेटेड कोविड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर की स्थापना की गई है, जिसके द्वारा नए केसों व वैक्सिनेशन की रियल टाइम मॉनिटरिंग की जा रही है।

 

luck1 UP: स्वास्थ्य मंत्री ने किया इंटीग्रेटेड कोविड सेंटर का निरीक्षण, अधिकारियों को दिए ये निर्देश    

उन्‍होंने कहा कि, हर दिन सुबह व शाम को उच्च अधिकारियों के द्वारा समीक्षा बैठक भी की जा रही है। संक्रमण पर प्रभावी नियंत्रण के उद्देश्य से मिनी कंटेटमेंट जोनों को भी बनाया जा रहा है, जिसमें जिस घर में मरीज पाया जाता है, उसके आसपास के पांच घरों को भी बैरिकेडिंग के द्वारा पूरी तरीके से कंटेट किया जा रहा है। डीएम ने कहा कि, नगर निगम के द्वारा बैरिकेडिंग, कोरोना पॉजिटिव लोगों के घरों पर स्टीकर व सैनेटाइजेशन का काम किया जा रहा है।

कोविड हेल्‍प डेस्‍क स्‍थापित करने की व्‍यवस्‍था

वहीं, बैठक में स्‍वास्‍थ्‍य मंत्री ने प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिया कि, प्रत्येक कोरोना पॉजिटिव मरीज का उचित इलाज किया जाए और उसके कॉन्‍टैक्‍ट की शत-प्रतिशत ट्रेसिंग और टेस्टिंग करना सुनिश्चित किया जाए। लखनऊ जिलाधिकारी ने बताया कि, सभी निजी व सरकारी कार्यालय, अस्पताल, दुकान, मॉल, मार्केट कॉम्पलेक्स, उद्योग व अन्य प्रतिष्ठानों में अनिवार्य तौर पर कोविड हेल्प डेस्क स्थापित करने की व्यवस्था की गई है।

उन्‍होंने बताया कि, इन जगहों पर आने वाले हर व्यक्ति की स्क्रीनिंग करनी है और आइएलआइ/एसएआरआइ (कोविड लक्षण वाले) और गंभीर बीमारी से ग्रसित व्यक्तियों की सूचना को दैनिक तौर पर गूगल फॉर्म पर दर्ज करना अनिवार्य है। इस बैठक में मुख्य विकास अधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी व अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे।

Related posts

दंतापंत ठेंगड़ी के जन्म शताब्दी समापन पर श्रम कल्याण परिषद की तीन योजनायें होंगी शुरू

Trinath Mishra

उत्तर प्रदेश: बीजेपी सांसद के बिगड़े बोले, एसडीएम को धमकी देकर कहा जीना मुश्किल कर दूंगी

Breaking News

अविश्वास प्रस्ताव पर बीजेपी का साथ देगें शत्रुघ्न सिन्हा, कहा भाजपा के लिए जान भी दे दूंगा

Ankit Tripathi