September 24, 2022 9:39 am
featured यूपी

मुख्तार अंसारी को यूपी वापस भेजने की सुनवाई से पहले योगी सरकार का SC में हलफनामा

मुख्तार अंसारी को यूपी वापस भेजने की सुनवाई से पहले योगी सरकार का SC में हलफनामा

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के पूर्वांचल के बाहुबली नेता मुख्तार अंसारी को राज्‍य वापस भेजने की मांग वाली याचिका पर सुनवाई से पहले प्रदेश की योगी सरकार ने शीर्ष अदालत में हलफनामा दायर किया है।

यह भी पढ़ें: अखिलेश यादव का योगी आदित्यनाथ पर पलटवार-लाल टोपी से डरते क्यों हैं सीएम

यूपी सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में दायर हलफनामे में कहा, मुख्तार अंसारी के विरुद्ध प्रयागराज के एमपी/एमएलए कोर्ट में जघन्य अपराध के 10 केस दर्ज हैं। योगी सरकार ने उच्‍चतम न्‍यायालय से आग्रह किया कि मुख्तार अंसारी को उत्‍तर प्रदेश जेल भेजा जाए और उससे संबंधित मामला भी प्रयागराज न्‍यायालय में ट्रांसफर किया जाए। हालांकि, शीर्ष अदालत ने पंजाब सरकार की मांग पर अगली सुनवाई 2 मार्च (मंगलवार) तक के लिए टाल दी है।

योगी सरकार ने लगाया मिलीभगत का आरोप

यूपी सरकार ने उच्‍चतम न्‍यायालय में कहा कि, ‘मुख्तार अंसारी 15 साल से यूपी की जेल में रहा, जहां उसे सभी मेडिकल सुविधाएं दी गईं। मोहाली मामले में दो साल से चार्जशीट दाखिल नहीं हुई और इसके बाद भी अंसारी वहां जमानत नहीं मांग रहा है। इससे मिलीभगत साफ दिख रही है। मुख्‍तार अंसारी को ट्रायल के लिए यूपी भेजा जाए।

यूपी सरकार के हलफनामे में इन बातों का जिक्र:
  • प्रयागराज के एमपी/एमएलए कोर्ट में मुख्‍तार के खिलाफ जघन्य अपराध के 10 केस हैं।
  • बांदा जेल अधीक्षक ने एमपी/एमएलए अदालत की अनुमति के बिना मुख्‍तार को पंजाब पुलिस को सौंपा।
  • मुख्‍तार के खिलाफ कई बार पेशी वारंट जारी, रोपड़ जेल के अधिकारी उसे बीमार बताते रहे।
  • मोहाली मामले में दो साल से चार्जशीट जमा नहीं हुआ। फिर भी वहां जमानत नहीं मांग रहा। मिलीभगत साफ दिख रही है।
  • शीर्ष अदालत न्याय के हित में अपनी विशेष शक्ति का इस्तेमाल करे और मुख्तार अंसारी को वापस यूपी भेजा जाए।
  • मुख्‍तार के खिलाफ मोहाली में दर्ज केस भी प्रयागराज ट्रांसफर किया जाए।
 
मुख्‍तार को यूपी भेजने वाली याचिका पर सुनवाई

उधर, बुधवार को सुप्रीम कोर्ट में मुख्तार अंसारी को उत्‍तर प्रदेश भेजने वाली याचिका पर सुनवाई हुई। इस दौरान सॉलिसीटर जनरल मुकुल तुषार मेहता और मुख्तार अंसारी के वकील मुकुल रोहतगी के बीच तीखी बहस हुई। मुकुल रोहतगी ने जब मुख्तार अंसारी को एक छोटा आदमी बताया तो इस पर एसजी तुषार मेहता ने कहा कि वह इतना छोटा आदमी है कि एक राज्य सरकार पूरी बेशर्मी से उसे बचाने में लगी है। हालांकि, शीर्ष अदालत ने दो मार्च (मंगलवार) तक के लिए सुनवाई टाल दी है।

सीएम योगी ने कांग्रेस पर साधा निशाना

उधर, मुख्‍तार अंसारी को लेकर मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कांग्रेस पर निशाना साधा। सदन में सीएम योगी ने कांग्रेस नेताओं की तरफ देखते हुए कहा, अपने राष्ट्रीय नेतृत्व से पूछिए, यूपी का गुनहगार पंजाब में क्‍यों शरण पाए हुए है?

Related posts

एक बार फिर से पाकिस्तान ने नौशेरा में तोड़ा सीजफायर

shipra saxena

दीपावली और छठ पर छोड़ें घर जाने की चिंता, रेलवे ने की विशेष ट्रेनें चलाने की घोषणा

Hemant Jaiman

जेएनयू में एमफिल के छात्र ने की आत्महत्या, मौके से नहीं मिला नोट

shipra saxena