featured यूपी

सीएम योगी बोले- हमारे एक हाथ में विकास दूसरे में बुल्डोजर है, पहले कब्रिस्तान की दीवार बनाना ही विकास था

CM Yogi 4 सीएम योगी बोले- हमारे एक हाथ में विकास दूसरे में बुल्डोजर है, पहले कब्रिस्तान की दीवार बनाना ही विकास था

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को चुनावी जनसभा को संबोधित करने के लिए बिजनौर पहुंचे। महात्मा विदुर की धरती के नाम से जाने जाने वाले इस जिले में आठ विधानसभा सीटें हैं। यहां जिले के रामलीला मैदान में नगीना एवं नहटौर सीट के प्रत्याशियों के लिए आयोजित जनसभा में मुख्यमंत्री ने पार्टी प्रत्याशी डॉ. यशवंत सिंह एवं ओम कुमार को जिताने की अपील की।

हमारे एक हाथ में विकास दूसरे हाथ में बुल्डोजर है

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ गुरुवार को चुनावी जनसभा को संबोधित करने के लिए बिजनौर पहुंचे। महात्मा विदुर की धरती के नाम से जाने जाने वाले इस जिले में आठ विधानसभा सीटें हैं। यहां जिले के रामलीला मैदान में नगीना एवं नहटौर सीट के प्रत्याशियों के लिए आयोजित जनसभा में मुख्यमंत्री ने पार्टी प्रत्याशी डॉ. यशवंत सिंह एवं ओम कुमार को जिताने की अपील की। इस चुनावी जनसभा में मुख्यमंत्री ने महात्मा विदुर की धरती को नमन करते हुए जिले के हर वर्ग को साधने का प्रयास किया।

माफियावादियों और गुंडावादियों के इलाज के लिए लोगों के साथ

इस क्रम में मुख्यमंत्री ने पिछली सरकारों की अराजकता और गुंडागर्दी का जिक्र करते हुए अपनी सरकार की उपलब्धियों का उल्लेख किया। इसके साथ ही यह दावा भी किया कि बीती सरकार के माफियावादियों और गुंडावादियों के इलाज के लिए उनकी सरकार और पार्टी (भाजपा) आपके साथ हैं। हमारे एक हाथ में जिले का विकास है तो दूसरे हाथ में माफियाओं के आतंक को खत्म करने के लिए बुलडोजर है।

सरकार दंगे कराती थी और गुंडे हावी थे- सीएम योगी

अपनी काष्ठ कला और टेक्सटाइल कारोबार के लिए देश में विख्यात नगीना और नहटौर के लोगों को यहां संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने पूर्व की सरकारों के समय का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि साल 2012 से 2017 तक रही सरकार में अराजकता का माहौल था। सरकार दंगे कराती थी। गुंडे हावी थे। व्यापारियों से वसूली की जाती थी। एक लड़का लखनऊ में बैठकर दंगे कराता था। यहां महीनों तक कर्फ्यू लगता था। आम जनजीवन अस्त-व्यस्त था। कांवड़ यात्रा को निकने नहीं दिया जाता था। बिजली मिलती नहीं थी। शिक्षा और इलाज की तरफ सरकार का ध्यान नहीं था। यह इलाका डार्क जोन घोषित कर दिया गया था और कब्रिस्तान की दीवार बनाना ही उनका विकास था।

बिजनौर के 93 हजार किसानों के कर्ज को माफ किया

उन्होंने कहा कि हमारी सरकार ने यहां मेडिकल कॉलेज दिया है। स्कूल बन रहे हैं। सात सौ से अधिक मंदिर और धामों का पुर्नोधार और सौन्दर्यीकरण कराया जा रहा है। भगवान राम का भव्यमंदिर बन रहा है। काशीविश्वनाथ धाम कोरिडोर की भव्यता लोगों को भा रही है। हमारी सरकार गन्ना किसानों को डेढ़ लाख करोड़ रुपए से अधिक का गन्ना मूल्य के रुप में दे चुकी है। जबकि बीती सरकार ने 16,000 करोड़ रुपए की पांच साल में किसानों को दिए थे। मुख्यमंत्री ने यह भी बताया कि बिजनौर जिले के 93 हजार किसानों के कर्ज को माफ किया गया। 32 लाख से अधिक लोगों को फ्री राशन दिया गया है। हजारों लोगों को पेंशन समय से दी जा रही है।

‘वो कर्फ्यू लगवाते थे, हम कांवड़ यात्रा निकलवाते हैं’

अपनी सरकार की उपलब्धियों का जिक्र करते हुए मुख्यमंत्री ने अखिलेश सरकार पर हमला बोला और कहा कि वो कर्फ्यू लगवाते थे, हम कांवड़ यात्रा निकलवाते हैं। अब यूपी में बमबाजी नहीं होती। ऐसा करने वाले अब जेल में हैं। उनकी गरमी निकाल दी है। अब व्यापरियों को धमकाने की कोई हिम्मत नहीं करता। ना ही अब यूपी में कोई दंगा होता है। सीएम ने कहा कि माफियावादियों  और गुंडावादियों का इलाज कर दिया है। हमारे एक हाथ में विकास के कार्य हैं तो दूसरे हाथ से माफियावादियों के लिए बुलडोजर हैं। मुख्यमंत्री ने जनसभा में आए लोगों से नगीना सीट से डॉ. यशवंत सिंह और नहटौर सीट से ओम कुमार को जिताने की अपील करते हुए बिजनौर से अपने जुड़ाव का भी जिक्र किया। मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरा जन्म भी इस जिले के समीप वाले राज्य में हुआ है। मैं बिजनौर में चार बार आ चुका हूं। मुख्यमंत्री ने संत रविदास और महर्षि वाल्मीकि की जन्मस्थली के सौंदर्यीकरण कराये जाने का जिक्र करते हुए कहा कि हमारी सरकार मंदिरों में अखंड रामायण का पाठ कराती है, हम सबको साथ लेकर चलने में विश्वास करते हैं।

Related posts

सलमान खान की ‘रेस 3’ 10वें दिन हुई पीछे, नहीं तोड़ पाई फिल्मों के रिकॉर्ड

mohini kushwaha

आनंद महिंद्रा का अमेरिकी चुनाव को लेकर ट्वीट, कहा- देखते हैं आज रात कितने लोगों की भविष्यवाणी होगी सही

Trinath Mishra

मेरठ पुलिस को बड़ी कामयाबी, गिरफ्तार किया IS मॉड्यूल का संदिग्ध आतंकी नईम

Ankit Tripathi