यूपी

हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.15.00 PM हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव

 

अमित गोस्वामी हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव  अमित गोस्वामी, संवाददाता

गौड़ीया वैष्णव सम्प्रदाय में माघ मास की त्रयोदशी को श्रील नित्यानंद महाप्रभु के आविर्भाव दिवस के रूप में मनाया जाता है।

यह भी पढ़े

 

स्कूल खुलने के बाद छात्रों के खिले चेहरे, कोरोना नियमों का किया गया पालन

 

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.15.00 PM 1 हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव

सोमवार को भक्ति वेदांत स्वामी मार्ग स्थित वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर में नित्यानंद त्रयोदशी महामहोत्सव को बडे़ ही हर्षोउल्लस के साथ मनाया गया।

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.15.00 PM 2 हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव
कार्यक्रम की श्रृंखला में भक्तों द्वारा विभिन्न प्रकार के पुष्पों का चयन कर मंदिर को पूरी तरह सजाया गया। इसके पश्चात छप्पन भोग, पालकी उत्सव एवं वैदिक मंत्रोंउच्चारण कर पंचगव्य, फलों के रस, औषधियों एवं पुष्पों से निताई गौर के महाभिषेक की प्रक्रिया को सम्पन्न किया गया।

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.15.00 PM हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव

श्रील नित्यानंद महाप्रभु द्वापर में प्रभु श्रीराम के अनुज लक्ष्मण, त्रैता युग में श्रीकृष्ण के बडे़ भाई बलराम एवं कलिकाल में नित्यानंद महाप्रभु के रूप में सन् 1474 में पश्चिम बंगाल के बीरभूम जनपद के छोटे से गांव एकचक्र में मुकुंद पंडित एवं पद्मावती जी के यहां अवतरित हुए।

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.14.59 PM 1 हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव
इस अवसर पर भक्तों को सम्बोधित करते हुए वृन्दावन चंद्रोदय मंदिर के अध्यक्ष चंचलापति दास ने कहा कि चैतन्य महाप्रभु ने नित्यानंद प्रभु को अपना सर्वोत्तम भक्त भक्त स्वीकार किया है। वह रूप गोस्वामी को आदेश करते है कि नित्यानंद महाप्रभु सभी जीवों के लिए गुरुतत्व है। वही अनादि मूल अक्षर ब्रह्म है। वह तो हमारे रहने का धाम है। जहाँ नित्यानंद हैं, वहां हम है।

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.14.59 PM हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव
अपने वक्तव्य को पूर्ण करते हुए उन्होंने कहा कि आचार्य श्रील नरोत्तम दास ठाकुर जी नित्यानंद महाप्रभु के विषय में बतातेे हैं कि यदि आप भगवतधाम में श्री राधा कृष्ण के संग के लिए व्याकुल हैं। तो सर्वोत्त युक्ति यह है कि आप श्री नित्यानंद प्रभु का आश्रय ग्रहण करें।

WhatsApp Image 2022 02 14 at 6.15.00 PM 1 1 हर्षोंउल्लास के साथ चंद्रोदय मंदिर में मनाया गया नित्यनांद त्रयोदशी महामहोत्सव
कार्यक्रम में भक्तों ने महामंत्र की मधुर ध्वनि में मंत्रमुग्ध होकर नित्य किया एवं श्रीश्री निताई गौर से प्रेम भक्ति प्राप्ति हेतु कामना की। इस महामहोत्व में सहभागिता हेतु दिल्ली, गुरूग्राम, आगरा एवं मथुरा जनपद के लोगों ने बढ़चढ़ कर भाग लिया।

Related posts

जया प्रदा को यूपी में कैबिनेट मंत्री का दर्जा

bharatkhabar

भाजपा उम्म्मीदवार बजरंग बहादुर पर मुक़दमा

kumari ashu

इंतजार हुआ खत्म! 25 दिसंबर से योगी सरकार देगी युवाओं को स्मार्टफोन और टैबलेट का तोहफा

Neetu Rajbhar