September 28, 2022 8:26 pm
Breaking News featured यूपी

कांग्रेस ने सरकार से पूछा- आगरा में जहरीली शराब से हुई आठ मौतों का जिम्मेदार कौन?

महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद महोदय का उत्तर प्रदेश भ्रमण कार्यक्रम (लखनऊ दौरा) 26 अगस्त सुबह 11.30 बजे- लखनऊ एयरपोर्ट आगमन 12.00 बजे- राजभवन आगमन 4.50 बजे- बाबासाहेब भीमराव अम्बेडकर विश्वविद्यालय कार्यक्रम 5 बजे से 6 बजे- दीक्षांत समारोह (सावित्री बाई फुले महिला छात्रावास का शिलान्यास) 5.40 बजे-राष्ट्रपति महोदय का भाषण 6.15 बजे- राजभवन आगमन 27 अगस्त 10.50 बजे- कैप्टन मनोज पांडेय सैनिक स्कूल सरोजिनी नगर आगमन 11 से 12 बजे- सैनिक स्कूल कार्यक्रम में शिरकत 12.30 बजे- राजभवन आगमन 4.35 बजे- राजभवन प्रस्थान 4.50 बजे- पीजीआई आगमन 5 से 6 बजे तक-पीजीआई में कार्यक्रम- 26th दीक्षांत समारोह कार्यक्रम 6.15 बजे- राजभवन आगमन

 

लखनऊ: आगरा के ताजगंज व डौकी इलाके में जहरीली शराब पीने से आठ व्यक्तियों की मौत हो गई। इस मामले पर योगी सरकार पर हमला बोलते हुए उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी मीडिया विभाग के संयोजक अशोक सिंह ने कहा है कि जहरीली शराब के अवैध कारोबारियों पर सख्त कार्यवाही न करने का ये परिणाम है. उन्होंने कहा, जहरीली शराब कारोबार के पीछे सरकार में बैठे लोगों का संरक्षण है, जिसके कारण यह मौतें रुक नहीं रही हैं। उंन्होने कहा कि उत्तर प्रदेश लगातार मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से सवाल पूछ रहा है कि जहरीली शराब की बिक्री कब बंद होगी और कब मौतें रुकेंगी। उन्होंने कहा कि राज्य में जहरीली शराब के अवैध कारोबार और उसके सेवन से लगातार हो रही मौतों के बावजूद कार्यवाही में पूरी तरह ढिलाई बरती जा रही है, इसका मतलब यह है कि सरकार में बैठे बड़े लोगों को अवैध शराब कारोबार को पूरा संरक्षण है।

जहरीली शराब के कारोबार को मिल रहा संरक्षण

अशोक सिंह ने कहा कि सत्ता में बैठे लोग अपनी सुरक्षा की चिंता में लगे रहते हैं. उन्हें जनता की सुरक्षा से कोई लेना देना नहीं है। अलीगढ़, आजमगढ़, अम्बेडकरनगर, एटा, प्रयागराज, राजधानी लखनऊ, उन्नाव, बाराबंकी आदि जनपदों में पूर्व में दिल दहलाने वाली घटनाओं के बाद आगरा में जहरीली शराब से हुई आठ मौतों ने फिर सरकार की पूरी तरह पोल खोल दी है, जिससे स्पष्ट हो गया कि सरकार की जहरीली शराब कारोबार पर अंकुश लगाने में कोई रुचि नहीं है। उन्होंने कहा कि राज्य में भाजपा की योगी आदित्यनाथ सरकार के कार्यकाल में अवैध जहरीली शराब कारोबरियों का सिंडिकेट लगातार मजबूती के साथ अपना धंधा चला रहा है जिसके चलते जहरीली शराब के सेवन से अब तक उत्तर प्रदेश में योगी राज में 550 से अधिक जानें जा चुकी हैं, परिवार के परिवार उजड़ गए हैं लेकिन शराब माफिया व्यवस्था के संरक्षण में बेखौफ होकर जहरीली शराब कारोबार में लगे हुए हैं।

अशोक सिंह ने सवाल किया है कि योगी आदित्यनाथ बताएं की शराब माफिया कब तक उनके राज में इंसानी जानों से खिलवाड़ करते रहेंगे? इसके लिये जिम्मेदार कौन है? उन्होंने सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि हर घटना के बाद कार्यवाही की बड़ी-बड़ी बातें होती हैं।

Related posts

उत्तर प्रदेश की पुलिस बनी भू माफिया : हरदोई

Arun Prakash

अब 27 जनवरी को कोर्ट में हाजिर होंगे सलमान

shipra saxena

सतीश महाना होंगे यूपी विधानसभा अध्यक्ष, आठवीं बार बने हैं विधायक

Neetu Rajbhar