UP: अब कोरोना पर लगेगी लगाम, सीएम योगी ने अधिकारियों को दिया ये मंत्र

लखनऊ: उत्‍तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने राज्‍य में कोरोना संक्रमण पर प्रभावी अंकुश लगाने व स्वास्थ्य व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए गठित टीम 11 समिति के अध्यक्षों के साथ समीक्षा बैठक की है।

मुख्‍यमंत्री ने रविवार को की गई समीक्षा बैठक में कहा कि, कोरोना पर प्रभावी रोकथाम के लिए ‘टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट’ के मंत्र को आत्मसात कर काम किया जाए। प्रतिदिन न्यूनतम एक लाख RT-PCR टेस्ट किए जाएं। सभी सरकारी और निजी टेस्टिंग लैब पूरी क्षमता के साथ कार्य करें। टेस्टिंग में देरी स्वीकार्य नहीं है।

टीका उत्‍सव में वैक्‍सीन लगवाने की अपील

सीएम योगी ने कहा कि, ‘टीका उत्सव’ के अवसर पर आज प्रदेश में 6,000 केंद्रों पर कोविड टीकाकरण का अभियान चलाया जा रहा है। महात्मा ज्योतिबा फुले जयंती और बाबा साहेब डॉ. आम्बेडकर जी की जयंती के दौरान अधिक से अधिक लोग टीकाकरण कराएं। उन्‍होंने कहा कि, कोविड टीकाकरण का कार्य प्रदेश में तेजी से चल रहा है। प्रदेश में अब तक 85 लाख से अधिक लोगों का टीकाकरण हो चुका है।

लखनऊ के तीन निजी अस्‍पताल बनेंगे डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल 

सूबे के मुखिया ने कहा कि, लखनऊ में तीन निजी अस्पतालों- एरा लखनऊ मेडिकल कॉलेज, टीएस मिश्रा मेडिकल कॉलेज और इंटीग्रल इंस्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइंस एंड रिसर्च सहित बलरामपुर हॉस्पिटल को डेडिकेटेड कोविड हॉस्पिटल के रूप में कोरोना मरीजों के इलाज के लिए समर्पित किया जाए।

हर कोविड अस्‍पताल में हों न्‍यूनतम 700 बेड: सीएम  

सीएम ने कहा, हर कोविड अस्‍पताल में न्यूनतम 700 बेड की उपलब्धता जरूर रहे। यहां सभी आवश्यक चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध कराई जाएं। इस काम के लिए आवश्यक अतिरिक्त मानव संसाधन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए।

लेवल-2 और लेवल-3 अस्‍पताल में बढ़ाएं बेड: मुख्‍यमंत्री

मुख्‍यमंत्री योगी ने कहा कि, कोविड अस्‍पतालों में डॉक्‍टर्स, दवाइयों, मेडिकल उपकरणों व बैकअप सहित ऑक्सीजन की पर्याप्त उपलब्धता बनाए रखी जाए। लेवल-2 और लेवल-3 हॉस्पिटल के बेड्स बढ़ाए जाएं। किसी भी प्रकार की जरूरत पर तत्काल शासन को अवगत कराएं।

सीएम योगी ने निर्देश देते हुए कहा कि, सभी सरकारी व निजी चिकित्सा संस्थानों की एंबुलेंस का कोविड मरीजों के आवागमन के लिए उपयोग किया जाए और एंबुलेंस हर समय उपलब्ध रहें। कोविड और नॉन-कोविड मरीजों के लिए अलग-अलग एंबुलेंस की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए और रिस्पॉन्स टाइम न्यूनतम रहे।

सख्‍ती से बने कंटेनमेंट जोन: सीएम योगी

समीक्षा बैठक में उन्‍होंने एक बार फिर कहा कि, प्रदेश के जिन जिलों में प्रतिदिन 100 से अधिक केस मिल रहे हैं या जहां कुल सक्र‍िय केस की संख्या 500 से अधिक है, वहां रात नौ बजे से सुबह छह बजे तक कोरोना कर्फ्यू लगाया जाए। साथ ही कंटेनमेंट जोन की व्यवस्था सख्ती से लागू की जाए।

इससे पहले मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने राजधानी के शक्ति भवन में चल रहे ‘टीका उत्सव’ अभियान का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्‍होंने प्र‍देश के पात्र लोगों से कोरोना वैक्‍सीन लगवाने की अपील की है।

teeka utsav up cm UP: अब कोरोना पर लगेगी लगाम, सीएम योगी ने अधिकारियों को दिया ये मंत्र

3 लाख रुपये का फायदा लेने के लिए 4 दिन शेष, जानिए क्या है स्कीम

Previous article

COVID Vaccination: टीकाकरण के मामले में भारत सबसे आगे, चीन, अमेरिका पीछे छूटा

Next article

You may also like

Comments

Comments are closed.

More in featured