August 20, 2022 11:00 am
featured यूपी

राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं को CM योगी ने किया सम्मानित, कही प्रेरणा देने वाली बात  

राष्ट्रीय बाल पुरस्कार विजेताओं को CM योगी ने किया सम्मानित, कही प्रेरणा देने वाली बात  

लखनऊ: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा राष्ट्रीय बाल पुरस्कार 2021 से सम्मानित बच्चों से मुलाकात करके मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उन्हें सम्मानित किया है। साथ ही सीएम योगी उनसे संवाद भी किया।

यह भी पढ़ें: यूपी के किसानों को मनाने निकले कृषि मंत्री संजीव बालियान

शनिवार को मुख्यमंत्री योगी ने लखनऊ के 10 वर्षीय व्योम आहूजा, बाराबंकी के 15 वर्षीय कुंवर दिव्यांश सिंह, गौतमबुद्धनगर के 16 वर्षीय चिराग भंसाली, अलीगढ़ के 17 वर्षीय मोहम्मद शादाब और प्रयागराज के 17 वर्षीय मोहम्मद राफे को सम्‍मानित किया। इस दौरान सीएम योगी ने कहा, आप पांचों ने अपने-अपने क्षेत्र में कुछ विशिष्ट करके दिखाया है, जो साबित करता है कि हर व्यक्ति में प्रतिभा है। उस प्रतिभा को समाज के सामने लाने और उसे एक मंच प्रदान करने की आवश्यकता है। याद रखें कि कोई भी कार्य हम पुरस्कार प्राप्त करने के लिहाज से न करें। हमारा कार्य सही दिशा में आगे बढ़ने का है।

https://twitter.com/CMOfficeUP/status/1360555204664569860

मुख्‍यमंत्री ने पीएम मोदी का जताया आभार

सीएम योगी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भारत सरकार के हम सब आभारी हैं, जिन्होंने देश के अंदर एक बहुत पारदर्शी व्यवस्था के जरिये चयन की इस प्रक्रिया को आगे बढ़ाया है। इसका परिणाम है कि भारत सरकार के जितने भी पुरस्कार आ रहे हैं, चाहे बाल पुरस्कार हो या प्रतिष्ठित पद्म पुरस्कार हो, पूरे पारदर्शी तरीके से उन लोगों को प्रदान किए जा रहे हैं, जिन्होंने समाज में कुछ विशिष्ट योगदान दिया है।

सीएम ने कहा- कोई व्‍यक्ति अयोग्‍य नहीं   

सूबे के मुखिया ने आगे कहा, हमारी भारतीय संस्कृति एक बात कहती है कि अयोग्य: पुरुषो नास्ति योजक: तत्र दुर्लभ: यानी कोई व्यक्ति अयोग्य नहीं है। अगर कोई अच्छा योजक मिल जाए तो हर व्यक्ति अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा सकता है। व्यक्ति अपनी प्रतिभा केवल एक क्षेत्र में नहीं बल्कि जीवन के किसी भी क्षेत्र में समाज के सामने ला सकता है। व्‍यक्ति कला, संस्कृति, साहित्य, विज्ञान या जीवन के किसी भी क्षेत्र में अपनी प्रतिभा को बढ़ाने का कार्य कर सकता है।

नकारात्‍मक नहीं होना चाहिए दृष्टिकोण: मुख्‍यमंत्री

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, आप पांचों बच्चों में कुछ अलग करने का साहस है। हर एक व्यक्ति को अपने जीवन में एक अवसर मिलता है, जो उसके जीवन का टर्निंग प्वाइंट होता है। अगर उसने सकारात्मक निर्णय लिया तो वह महानता के लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है। लेकिन, अगर दृष्टिकोण नकारात्मक हो तो वह व्यक्ति अपने लक्ष्य को कभी भी प्राप्त नहीं कर सकता है।

इसलिए राष्ट्रीय बाल पुरस्कार से सम्‍मानित किए गए पांचों बच्‍चे  
व्योम आहूजा

 

कुंवर दिव्यांश सिंह

 

चिराग भंसाली

मोहम्मद शादाब

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पूर्व छात्र मोहम्मद शादाब ने केनेडी-लूगर यूथ एक्सचेंज एंड स्टडी स्कॉलरशिप के जरिए बेलफास्ट एरिया हाईस्कूल, अमेरिका में पढ़ाई की थी। 97.6 फीसदी अंक हासिल कर स्कूल टॉप किया था। यूनिवर्सिटी के मिंटो सर्किल से कक्षा नौ की पढ़ाई करके शादाब ने स्कॉलरशिप के जरिये बेलफास्ट एरिया हाईस्कूल में दाखिला लिया था। उसे स्कॉलरशिप में 28 हजार अमेरिकी डालर मिले थे। शादाब को फरवरी-2020 में 800 बच्चों के बीच ‘स्टूडेंट ऑफ मंथ’ चुना गया था।

मोहम्मद राफे

Related posts

सपना चौधरी के खिलाफ आशियाना थाने में FIR दर्ज, जानिए पूरा मामला

mahesh yadav

खुद पर बने मजेदार मीम्स राधिका आप्टे को आए पसंद, कहा काफी मजेदार हैं

mohini kushwaha

दिल्ली में पकड़ा गया अलकायदा का संदिग्ध आतंकी

piyush shukla