featured यूपी

‘काला नमक चावल महोत्सव’ का शुभारंभ, सीएम योगी ने कहा- देश-दुनिया में बिखरी इसकी खुश्‍बू     

‘काला नमक चावल महोत्सव’ का शुभारंभ, सीएम योगी ने कहा- देश-दुनिया में बिखरी इसकी खुश्‍बू     

लखनऊ: सूबे के मुखिया योगी आदित्‍यनाथ ने सिद्धार्थनगर जिले में आयोजित तीन दिवसीय कपिलवस्‍तु काला नमक चावल महोत्‍सव का शुभारंभ किया है। उन्‍होंने इस महोत्‍सव का उद्घाटन वर्चुअल तरीके से किया है।

इस अवसर पर मुख्‍यमंत्री ने कहा, मैं आज इस काला नमक चावल महोत्सव के उद्घाटन कार्यक्रम में जनपद सिद्धार्थनगर के किसानों व अधिकारीगणों को हार्दिक बधाई देता हूं और आप सबके प्रति अपनी शुभकामनाएं व्यक्त करता हूं। उन्‍होंने कहा, मेरे लिए यह प्रसन्नता का विषय है कि काला नमक चावल की खुशबू सिद्धार्थनगर से निकलकर देश और दुनिया के कोने-कोने में पहुंची है।

काला नमक चावल देश और दुनिया में विख्‍यात

सीएम योगी ने कहा, काला नमक चावल को 2018 में ‘उत्‍तर प्रदेश वन डिस्ट्रिक्‍ट, वन प्रोडक्‍ट’ (यूपी ओडीओपी) योजना में शामिल कर इसकी मार्केटिंग और ब्रांडिंग के लिए मंच उपलब्ध करवाया गया है। आज तमाम कृषि विज्ञान केंद्र काला नमक चावल पर शोध कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा, यूपी ओडीओपी योजना में शामिल होने के बाद काला नमक चावल आज देश और दुनिया में विख्यात हुआ है।

मुख्‍यमंत्री ने कहा, सिद्धार्थनगर से काला नमक चावल का संबंध कई सौ वर्ष पुराना है। पहले यहां के लोगों द्वारा काला नमक चावल का सीमित उत्पादन किया जाता था। स्वाभाविक रूप से कम उत्पादन में लोग संतोष कर लेते थे। समय के साथ लागत बढ़ने के कारण किसानों का इससे मोहभंग हो गया। उन्‍होंने कहा, कृषि वैज्ञानिकों के शोध से वैरायटी में काफी सुधार किए गए हैं। उत्पादन क्षमता को बढ़ाया और लागत को कम किया गया है। साथ ही कम समय में फसल तैयार करने का काम किया गया है।

अकेले सिद्धार्थनगर में होती है 5,000 हेक्टेयर खेती: मुख्‍यमंत्री

सूबे के मुखिया ने कहा, आजादी के पहले सिद्धार्थनगर व आसपास के क्षेत्रों में 22,000 हेक्टेयर क्षेत्र में काला नमक चावल की फसल होती थी। वर्ष 2017 तक इसका उत्पादन काफी कम हो गया था। लेकिन अब यूपी ओडीओपी योजना के बाद अकेले सिद्धार्थनगर में 5,000 हेक्टेयर में इसकी खेती हो रही है। काला नमक चावल में खुशबू के साथ जिंक, आयरन, ओमेगा-3 जैसे आवश्यक पोषक तत्व प्रचुर मात्रा में हैं। पोषण के साथ ही यह चावल स्वादिष्ट भी है। इन्हीं कारणों से की वजह से इसकी लोकप्रियता देश और दुनिया में बढ़ी है।

मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ ने कहा, काला नमक चावल महोत्सव एक मंच की तरह काम करेगा। इससे काला नमक चावल की ब्रांडिंग होगी तथा मार्केट भी मिलेगा। महोत्सव से लोगों के मन में एक नया विश्वास जागेगा। मुझे प्रसन्नता है कि प्रदेश के किसान इस फील्ड में बेहतर काम कर रहे हैं। उन्‍होंने कहा, प्रगतिशील किसानों ने अपनी जिम्मेदारियों का अच्छे से निर्वहन किया है। अब यह हमारी और समाज की जिम्मेदारी है कि उनके कार्यों का प्रचार-प्रसार करें और लोगों को अवगत कराएं कि कैसे उन्होंने लागत कम कर उत्पादन को बढ़ाया है।

सीएम योगी ने कहा- सिद्धार्थनगर के लिए कॉमन फैसिलिटी सेंटर स्‍वीकृत

सीएम योगी ने कहा, काला नमक चावल महोत्सव, सिद्धार्थनगर के साथ-साथ नेपाल से जुड़े तराई क्षेत्रों में भी बड़ा कार्य करेगा। हम ऐसे ही कई काम कर सकते हैं, जो किसानों की आमदनी में वृद्धि करने में सहायक हो सकते हैं। उन्‍होंने कहा, मुझे प्रसन्नता है कि आज यूपी ओडीओपी योजना के अंतर्गत जनपद सिद्धार्थनगर के लिए एक कॉमन फैसिलिटी सेंटर (CFC) स्वीकृत हुआ है, जिसकी लागत ₹6.39 करोड़ है। हमें स्थानीय मार्केट और स्थानीय मंडी पर ध्यान देना होगा। काला नमक चावल एक्सपोर्ट होने से किसानों को उनकी फसल का कई गुना दाम मिलने लगेगा। यह लाभ भी किसान को सीधे मिलेगा। महात्मा बुद्ध जी की धरती से काला नमक चावल की खुशबू देश और दुनिया के कोने-कोने में पहुंचेगी।

सितारों से सजेगी महोत्‍सव की महफिल

काला नमक चावल महोत्‍सव में ‘एक जिला, एक उत्पाद’ के तहत ‘सिद्धार्थनगर की विशेषता काला नमक चावल’ पर तीन दिवसीय गोष्ठी द्वारा प्रचार-प्रसार का भी कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। वहीं, महोत्‍सव के पहले दिन कुमार विश्‍वास और लोक गायिका मैथिली ठाकुर के नाम महफिल सजेगी। दूसरे दिन बॉलीवुड अभिनेत्री हेमा मालिनी की विशेष नृत्य नाटिका प्रस्तुति होगी। तीसरे दिन अभिनेता रवि किशन और मनोज तिवारी जलवा बिखेरेंगे। इन कार्यक्रमों की सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं।

Related posts

बदलते मौसम की बीमारियों से बचना है तो करिए ये उपये, नहीं होंगे बीमार

Rani Naqvi

फ्यूचर रिटेल स्टोर्स की कमान रिलायंस के हाथ में, बिग बाजार के 200 स्टोर चलाएगा रिलायंस, स्टोर कर्मचारियों को मिलेगी नौकरी

Rahul

अलविदा 2018: जब सुप्रीम कोर्ट के 4 जजों ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मचा दी थी हलचल

mahesh yadav